Friday, January 27

इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बाद अब 7 नए मेडिकल कॉलेजों का तोहफा देंगे मोदी

इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बाद अब 7 नए मेडिकल कॉलेजों का तोहफा देंगे मोदी


लखनऊ
उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले अब पीएम मोदी भी अपने चुनावी मोड में आ गए हैं। रणनीति के मुताबिक अब हर महीने मोदी के दो या तीन सरकारी कार्यक्रम लगाए यूपी में लगाए जा रहे हैं। इसके पीछे भी बीजेपी की सोची समझी रणनीति है। योगी सरकार अब अपने हर काम को चुनावी लिहाज से यूज करना चाहती है। कुशीनगर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शुभारंभ के बाद पीएम मोदी 25 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश में सात नए मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन करेंगे। हालांकि राज्य सरकार की योजना सभी 75 जिलों में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए 2,000 करोड़ रुपये खर्च करने की है। हालांकि राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो चुनावी साल में सात नए मेडिकल कालेज का उद्घाटन कर सरकार एक साथ कई निशाने साधना चाहती है। जिन मेडिकल कॉलेजों का शुभारंभ किया जाएगा उनके नाम भी सोची समझी रणनीति के तहत ही रखे गए हैं ताकि इसका सियासी माइलेज मिले सके।

 एक जिला एक मेडिकल कॉलेज योजना पर काम कर रही सरकार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कोविड की विनाशकारी दूसरी लहर के बाद यूपी में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए 'एक जिला, एक मेडिकल कॉलेज' योजना शुरू करने का फैसला किया। इसके तहत राज्य के सभी 75 जिलों में मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जा रहे हैं। 16 अक्टूबर को नवनिर्मित माधव प्रसाद त्रिपाठी राजकीय स्वायत मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करने सिद्धार्थनगर सीएम योगी पहुंचे थे। इससे पहले 2019 में, उन्होंने सिद्धार्थनगर में एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना की घोषणा की थी। 100 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत निर्मित, मेडिकल कॉलेज का नाम माधव प्रसाद त्रिपाठी उर्फ 'माधव बाबू' के नाम पर रखा गया है, जो एक लोकप्रिय सेनानी, राजनेता और उत्तर प्रदेश भाजपा के पहले अध्यक्ष थे। जनसंघ की स्थापना से जुड़े। 

अस्पताल, छात्रावास और स्टाफ की व्यवस्था करने का दावा स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी बताते हैं कि मेडिकल कॉलेज में अस्पताल, छात्रावास और स्टाफ के ठहरने की सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई हैं। फैकल्टी की नियुक्ति कर दी गई है और मेडिकल कॉलेज अगले साल से एमबीबीएस पाठ्यक्रम के पहले सत्र के लिए प्रवेश देखेगा। सीएम योगी कहते हैं कि, "सिद्धार्थनगर मेडिकल कॉलेज के माध्यम से न केवल सिद्धार्थनगर बल्कि बलरामपुर, महराजगंज और यहां तक कि नेपाल के पड़ोसी जिलों जैसे जिलों के लोगों को बेहतरीन चिकित्सा सुविधाएं मिलेंगी।" सात जिलों में शुरू होंगे नए मेडिकल कॉलेज दरअसल 25 अक्टूबर को जिन अन्य मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन किया जा रहा है उनमें देवरिया, एटा, हरदोई, गाजीपुर, मिर्जापुर और प्रतापगढ़ शामिल हैं। सभी सात मेडिकल कॉलेजों को पहले ही राष्ट्रीय चिकित्सा परिषद से मान्यता मिल चुकी है। इसी सत्र से नीट के जरिए 100 एमबीबीएस सीटों के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। यूपी में अब अतिरिक्त 700 एमबीबीएस सीटें होंगी, जिससे राज्य की कुल सीटों की संख्या 3,628 हो जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.