Saturday, December 3

चन्नी के सामने नई चुनौती, अब एपीएस देओल के समर्थन में एडिशनल AG ने भी दिया इस्तीफा

चन्नी के सामने नई चुनौती, अब एपीएस देओल के समर्थन में एडिशनल AG ने भी दिया इस्तीफा


चंडीगढ़

पंजाब के अतिरिक्त महाधिवक्ता (एएजी) के तौर पर नियुक्ति के दो दिन बाद वरिष्ठ अधिवक्ता मुकेश बेरी ने बुधवार को अपना इस्तीफा दे दिया और राज्य सरकार से ''वरिष्ठ अधिकारियों का मजा न उड़ाने और उनका दर्जा कम न करने'' को कहा। बेरी और एक अन्य अधिवक्ता तरुण वीर सिंह लेहल को सोमवार को अतिरिक्त महाधिवक्ता नियुक्त किया गया था। लेहल पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के दामाद हैं।

अपने त्याग पत्र में बेरी ने कहा, "एजी एपीएस दिल्ली, पंजाब के महाधिवक्ता, उच्च न्यायालय के वरिष्ठ वकील के इस्तीफे को स्वीकार करने के पंजाब सरकार के फैसले पर टिप्पणी किए बिना, मैं अतिरिक्त महाधिवक्ता, पंजाब के पद से अपना इस्तीफा देता हूं जिसे प्रस्तुत करने की तारीख यानी आज से स्वीकार किया जाएगा।" उन्होंने आगे लिखा, "27 सालों के लिए बार काउंसिल ऑफ पीबी एंड एचआर और 28 वर्षों के लिए चंडीगढ़ के सदस्य के रूप में अधिवक्ताओं के निर्वाचित प्रतिनिधि और उसी के अध्यक्ष और एडवोकेट जनरल पंजाब के कार्यालय में कानून अधिकारी के रूप में निरंतर सेवा में रहने के बाद भी मैं सरकार से अनुरोध करूंगा कि हाई कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ताओं की स्थिति और गरिमा का मजाक न उड़ाएं।' बेरी ने ऐसे दिन इस्तीफा दिया है जब पंजाब मंत्रिमंडल ने राज्य के महाधिवक्ता के तौर पर एपीएस देओल का इस्तीफा मंजूर कर लिया। प्रधान सचिव (गृह) को लिखे पत्र में बेरी ने कहा कि उन्होंने पंजाब सरकार के देओल का इस्तीफा स्वीकार करने के फैसले पर टिप्पणी किए बिना एएजी पद से इस्तीफा दे दिया है। एपीएस देओल की नियुक्ति को लेकर ही पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से नवजोत सिद्धू ने इस्तीफा दिया था। हालांकि, पार्टी की तरफ से मनाए जाने के बाद उन्होंने इस्तीफा वापस ले लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.