Tuesday, January 31

जलवायु परिवर्तन पर भारत समेत 11 देश नाजुक स्थिति में, अमेरिकी एजेंसियों की नजर 

जलवायु परिवर्तन पर भारत समेत 11 देश नाजुक स्थिति में, अमेरिकी एजेंसियों की नजर 


नई दिल्ली
भारत और पाकिस्तान समेत 11 देश जलवायु परिवर्तन को लेकर नाजुक स्थिति में हैं। यूएस ऑफिस ऑफ डायरेक्टर ऑफ नेशनल इंटेलिजेंस (ओडीएनआई) ने अपनी एक रिपोर्ट में 11 देशों को पर्यावरण के लिहाज से 'चिंताजनक स्थिति' वाले देश मान है। 'नेशनल इंटेलिजेंस एस्टीमेट' नाम से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण 2040 तक भू-राजनीतिक तनाव बढ़ेंगे जिसका अमेरिका की सुरक्षा पर भी असर होगा। ऐसे में अमेरिकी जासूसी एजेंसियों की इस पर कड़ी नजर है। गुरुवार को जारी इस रिपोर्ट में भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, म्यांमार, इराक, उत्तर कोरिया, ग्वाटेमाला, हैती, होंडूरास, निकारागुआ और कोलंबिया को लेकर चिंता जाहिर की गई है। रिपोर्ट कहती है कि ग्लोबल वार्मिंग का सबसे ज्यादा नुकसान इन देशों को उठाना पड़ेगा। इन देशों में लगातार गर्म हवाओं की तीव्र लहरें चल सकती है, यहां के लोगों को सूखा और पानी-बिजली की कमी का सामना करना पड़ सकता है। 

रिपोर्ट में जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए दुनिया भर में विभिन्न दृष्टिकोणों और असमानताओं पर कहा गया है कि जलवायु परिवर्तन के प्रभावों ने निश्चित रूप से इस क्षेत्र में अपना स्पष्ट प्रभाव दिखाया है क्योंकि मौसम में परिवर्तन और लंबे समय तक चरम मौसम देखा जा रहा है। दक्षिण एशिया में पानी की कमी जैसी चुनौतियां भी हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत चीन नवीकरणीय और कम कार्बन ऊर्जा स्रोतों को शामिल कर रहे हैं। उन्हें अपने विद्युत वितरण तंत्र को आधुनिक बनाने की आवश्यकता है, उनकी कीमत कम करने की आवश्यकता है जिससे ऊर्जा के अन्य स्रोतों की तरह यह भी कोयले की तरह सस्ती हो, उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा की वजहों से ईंधन के आयात पर निर्भरता कम करनी होगी। साथ ही रिपोर्ट कहती है कि भारत के आर्थिक रूप से विकास करने के कारण निश्चित तौर पर उसके उत्सर्जन में वृद्धि होगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.