Saturday, December 3

जॉब के नाम पर कराया धर्मांतरण, महीनों तक बनाया बंधक, फिर ऐसे मिली मुक्ति

जॉब के नाम पर कराया धर्मांतरण, महीनों तक बनाया बंधक, फिर ऐसे मिली मुक्ति


 लखीमपुर खीरी 
जॉब के नाम पर कराया धर्मांतरण, महीनों तक बनाया बंधक, फिर ऐसे मिली मुक्ति
लखीमपुर खीरी के मोहम्मदी कोतवाली क्षेत्र में रोजगार दिलाने के नाम पर धर्मांतरण कराकर पांच माह तक बंधक बनाए गए युवक को शनिवार को पुलिस ने मदरसे से मुक्त कराया। पुलिस ने इस मामले में पिता की तहरीर पर छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। इनमें एक आरोपी संतकबीरनगर का भी है। पांच आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उनसे पूछताछ हो रही है।

गांव गरवापुर निवासी दामोदर ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि वह और उसका बेटा ईंट-भट्ठे पर मजदूरी करते हैं। पांच माह पहले उसके पुत्र अनुज को रोजगार दिलाने का बहाना बनाकर कुछ लोग उसे दिल्ली ले गये थे। इसके बाद सभी ने मोबाइल ऑफ कर लिया। उसका अपने बेटे से संपर्क नहीं हो पाया। इस दौरान वह पुलिस के पास भी गया, लेकिन रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। 10 दिन पहले वापस आने पर अपने बेटे की दोबारा तलाश शुरू की। इस पर पता चला कि उसके बेटे को मोहल्ला सरैयां के मदरसा में बंधक बना कर रखा गया है। दामोदर ने बताया कि उसके बेटे अनुज का जबरन धर्मांतरण कर दिया गया है। जब वह मदरसा पहुंचा तो उसे भगा दिया गया। तब उसने पुलिस को सूचना दी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.