Tuesday, November 29

पाकिस्तान ने खामोशी से माना तालिबान को ‘सरकार’, इमरान राज में तालिबानी राजदूत ने संभाला काम

पाकिस्तान ने खामोशी से माना तालिबान को ‘सरकार’, इमरान राज में तालिबानी राजदूत ने संभाला काम


इस्लामाबाद
पाकिस्तान ने एक बार फिर से दुनिया को बेवकूफ बनाने की कोशिश की है और खामोशी के साथ तालिबान की सरकार को 'मान्यता' दे दी है। शनिवार को पाकिस्तानी मीडिया में कहा गया है कि, तालिबान द्वारा नियुक्त राजदूत को पाकिस्तान सरकार ने इस्लामाबाद में अफगान दूतावास और वाणिज्य दूतावास का प्रभार लेने की इजाजत दे दी है। हालांकि, पाकिस्तान ने अभी तक आधिकारिक तौर पर तालिबान को काबुल में वैध सरकार के रूप में मान्यता नहीं दिया है, फिर भी उसने नियुक्त "राजनयिकों" को वीजा जारी कर दिया है।

 तालिबान सरकार को मान्यता! पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' की रिपोर्ट के अनुसार, सरदार मुहम्मद शोकेब ने इस्लामाबाद में अफगान दूतावास में पहले सचिव के रूप में काम करना शुरू कर दिया है, जबकि हाफिज मोहिबुल्लाह, मुल्ला गुलाम रसूल और मुल्ला मुहम्मद अब्बास को अफगानिस्तान के पेशावर, क्वेटा और कराची वाणिज्य दूतावासों को सौंपा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, शोकैब प्रभावी रूप से इस्लामाबाद में अफगान प्रभारी डी'एफ़ेयर होंगे। पाकिस्तान स्थिति अफगान दूतावास जुलाई के बाद से राजदूत के बिना है जब पिछले शासन के तहत अंतिम राजदूत, नजीबुल्लाह अलीखिल की पाकिस्तान में अपहरण के बाद उन्होंने पाकिस्तान छोड़ दिया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.