Friday, December 9

बिहार में घट रही है मूंछों पर ताव देने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या, पुलिस हेडक्वार्टर ने एसपी को लिखा पत्र

बिहार में घट रही है मूंछों पर ताव देने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या, पुलिस हेडक्वार्टर ने एसपी को लिखा पत्र


 पूर्णिया 
मूंछ का रौब दिखाकर अपराधियों पर भारी पड़ने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या दिनों-दिन घटती जा रही है। पुलिसकर्मी भी रौबदार मूंछें नहीं बल्कि क्लीन शेव दाढ़ी रखना पसंद करने लगे हैं। पूर्णिया जिले में 1400 से अधिक पुलिसकर्मी हैं लेकिन इनमें से एक पुलिसकर्मी के पास तीन इंच से अधिक लंबी मूंछ है।

मूंछ रखने वाले पुलिसकर्मियों को मुख्यालय ने प्रोत्साहित करने के लिए कहा गया है। उसकी संख्या और फोटो भेजने को लेकर पुलिस मुख्यालय ने कई बार दिशा निर्देश भी जारी किया है। लेकिन विभाग द्वारा समय पर मूंछ रखने का प्रोत्साहन भत्ता नहीं दिया जाने से भी पुलिसकर्मी रुचि नहीं दिखा रहे हैं। 

वर्ष 2019 में पूर्णिया के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने एक सामूहिक भोज के दौरान पुलिस लाइन में तैनात सिपाही अवधेश सिंह यादव की मूंछ को देखकर काफी प्रभावित हुए थे। उन्हें लिखित आवेदन देने के लिए भी कहा गया था ताकि उन्हें प्रोत्साहन भत्ता दिया जा सके। 

पुलिस अधीक्षक के द्वारा आदेश दिए जाने के बावजूद पुलिस लाइन के सार्जेंट मेजर के द्वारा अभी तक फाइल को पेंडिंग ही रखा गया है। पुलिस लाइन में तैनात सिपाही अवधेश सिंह यादव ने बताया कि वह 1985 में बिहार पुलिस के जवान के रूप में शामिल हुआ था। उस समय उनकी मूंछ देखकर तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने उन्हें डेढ़ सौ रुपया सलाना भत्ता देने का आदेश दिया था। कई सालों तक भत्ता मिला भी था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.