Tuesday, February 7

बीमार बच्ची के लिए 26 मिनट तक रुकी दुरंतो एक्सप्रेस, लोग बोले- इंसानियत ने बचा ली मासूम की जान

बीमार बच्ची के लिए 26 मिनट तक रुकी दुरंतो एक्सप्रेस, लोग बोले- इंसानियत ने बचा ली मासूम की जान


नई दिल्ली
दुरंतो एक्सप्रेस समय पर चलने के लिए जानी जाती हैं लेकिन एक बच्ची की मदद के लिए ट्रेन को 26 मिनट लेट शुरू किया गया। यसवंथपुर-हावड़ा दुरंतो एक्सप्रेस को रविवार सुबह यसवंथपुर से चलना था लेकिन ट्रेन में सफर कर रही पांच साल की बीमार बच्ची के चलते ट्रेन 26 मिनट की देरी से स्टेशन से चली। ट्रेन में पांच साल की बच्ची जैनब मंडल भी सफर कर रही थीं। जिनको ब्रेन ट्यूमर होने के बाद अगस्त में बेंगलुरु आया था और ढाई महीने से सेंट फिलोमेना अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। अब वो रिकवर कर रही हैं। उनको ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत थी और इसी के इंतजाम में ट्रेन लेट चली।

रेलवे के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि जैनब को ए1 कोच से यात्रा करनी थी, उनको सांस लेने में तकलीफ हुई। ऐसे में उनके लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई थी। इस वजह से ट्रेन को रोके रखा गया। ट्रेन नंबर को 02246 को रविवार सुबह 11 बजे स्टेशन से निकलना था, जो कि 11.27 पर निकली।

लोगों ने की तारीफ
किसी की मदद के लिए ट्रेन में देरी होना आमतौर पर नहीं देखा जाता है। रेलवे अधिकारियों की इस काम के लिए प्रशंसा की जा रही है। इस पूरे मामले के एक प्रत्यक्षदर्शी केदारनाथ रेड्डी ने बताया है कि इस ट्रेन से यात्रा करने के लिए एक लड़की को अस्पताल से स्टेशन लाया गया था। उसे सांस लेने में समस्या हो रही थी। जिसके बाद उसके लिए ऑकसीजन सिलेंडर और कुछ दूसरी सहूलियत दी गई। उसकी सांस सामान्य होने के बाद ही उसे ट्रेन में ले जाया गया और वह रवाना हो गई। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की इंसानियत ने आज एक जान बचा ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.