Wednesday, December 7

‘सूरज के साथ चलना होगा…’ दुनिया को ‘पांच मंत्र’ देकर पीएम मोदी स्वदेश पहुंचे

‘सूरज के साथ चलना होगा…’ दुनिया को ‘पांच मंत्र’ देकर पीएम मोदी स्वदेश पहुंचे


रोम/ग्लासको
पीएम मोदी का पांच दिवसीय रोम और ग्लासको का दौरा खत्म हो गया है और इसके साथ ही भारत ने अपने 'मंत्र' से दुनिया को नई मुश्किलों से लड़ने और आगे बढ़ने की सलाह दी है। अपने पांच दिवसीय दौरे के दौरान पीएम मोदी ने जी-20 सम्मेलन और सीओपी-26 सम्मेलन में हिस्सा लेने के अलावा कई राष्ट्रों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ द्विपक्षीय मुलाकात भी की और अब पीएम मोदी भारत लौट आए हैं। पीएम मोदी ने इस दौरान दुनिया से अपील करते हुए कहा, कि अगर हमें पृथ्वी को बचानी है, तो हमें किसी भी हाल में सूरज के साथ ही चलना होगा।
 

जलवायु परिवर्तन रोकने के लिए सीओपी-26 सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी ने दुनिया के सामने पांच सूत्रीय एजेंडा रखा है और भारत के लिए अगले 50 सालों का लक्ष्य भी रखा है। पीएम नोदी ने सीओपी-26 सम्मेलन में कहा कि, भारत 2070 तक कोयला का इस्तेमाल करना पूरी तरह से बंद कर देगा। इसके साथ ही वैश्विक जलवायु परिवर्तन को कैसे रोका जाए, पीएम मोदी ने इसके लिए भी दुनिया के सामने कई विकल्प रखे हैं। पीएम मोदी ने कहा है कि, विश्व के सभी देशों को एकसाथ आकर वैश्विक स्तर पर मीथेन गैस का इस्तेमाल 2030 तक कम से कम 30 प्रतिशत जरूर कम करना होगा। पीएम मोदी ने घर वापसी के वक्त एक ट्वीट भी किया है, जिसमें पीएम मोदी ने कहा कि, "हमारे ग्रह के भविष्य के बारे में दो दिनों की गहन चर्चा के बाद ग्लासगो से प्रस्थान। भारत ने न केवल पेरिस प्रतिबद्धताओं को पूरा कर लिया है, बल्कि अब अगले 50 वर्षों के लिए एक महत्वाकांक्षी एजेंडा भी निर्धारित किया है।"
 
पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि, "लंबे समय के बाद कई पुराने दोस्तों को व्यक्तिगत रूप से देखना और कुछ नए लोगों से मिलना अद्भुत था। मैं अपने मेजबान पीएम @BorisJohnson और स्कॉटिश लोगों के लिए भी खूबसूरत ग्लासगो में उनके गर्मजोशी भरे आतिथ्य के लिए आभारी हूं।" आपको बता दें कि, ग्लासको में भारतीय समुदाय के कई सदस्य पीएम मोदी से मिलने के लिए पहुंचे थे, जो अलग अलग रंगीन भारतीय पोशाक में थे। भारत के लिए प्रस्थान करने से पहले मोदी ने भारतीय समुदाय के सदस्यों के साथ ड्रम भी बजाया।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.