Saturday, December 3

हैप्पी बर्थडे विराट कोहलीः बल्लेबाजी और कप्तानी का मनवाया लोहा, गवाह हैं ये रिकॉर्ड्स

हैप्पी बर्थडे विराट कोहलीः बल्लेबाजी और कप्तानी का मनवाया लोहा, गवाह हैं ये रिकॉर्ड्स


नई दिल्ली

विराट कोहली ने भले ही अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को कोई आईसीसी ट्रॉफी नहीं दिलाई है, लेकिन उनके रिकॉर्ड्स इस बात की गवाही देने के लिए काफी हैं कि वह दुनिया के बेस्ट बल्लेबाजों के साथ-साथ बेस्ट कप्तानों में भी शामिल किए जाने चाहिए। विराट की कप्तानी में टीम इंडिया टेस्ट में नंबर-1 टीम बनी, आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमों को उसकी जमीं पर हराया। विराट का जन्म 15 नवंबर 1988 को दिल्ली में हुआ था। अपने 33वें जन्मदिन पर विराट टी20 वर्ल्ड कप में स्कॉटलैंड के खिलाफ मैच खेलते नजर आएंगे। 2008 में टीम इंडिया को अपनी कप्तानी में अंडर-19 वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले विराट को इसी साल इंटरनैशनल क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका भी मिला। विराट ने अपनी कप्तानी में टेस्ट क्रिकेट को एक अलग पहचान दिलाई। वह हमेशा से कहते आए हैं कि यह फॉर्मेट क्रिकेट का बेस्ट फॉर्मेट है। कई दिग्गज क्रिकेटर्स विराट को टेस्ट क्रिकेट के ब्रांड एम्बेसडर के रूप में भी देखते हैं।

1- सबसे ज्यादा टेस्ट जीत वाले भारतीय कप्तानः विराट कोहली ने 65 टेस्ट मैचों में टीम इंडिया की कमान संभाली है, जिसमें से 38 में टीम को जीत मिली है। टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा जीत के मामले में वह भारतीय कप्तानों में टॉप पर हैं, जबकि ओवरऑल अगर बात करें तो उनसे आगे महज तीन कप्तान हैं। ग्रीम स्मिथ (53), रिकी पोंटिंग (48) और स्टीव वॉ (41) ही उनसे आगे हैं।

2- ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में हराने वाले पहले एशियाई कप्तानः विराट कोहली की कप्तानी में 2018-19 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसी की धरती पर टेस्ट सीरीज में हराया था। यह पहला मौका था जब किसी एशियाई कप्तान ने ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया की धरती पर ही धूल चटाई हो। भारत ने तब सीरीज 2-1 से अपने नाम की थी। 70 सालों में कोई भी एशियाई कप्तान यह कारनाम नहीं कर सका था।
 
3- सबसे तेज 10,000 वनडे रनः सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड्स तोड़ने के सबसे प्रबल दावेदार के रूप में विराट कोहली को ही देखा जाता है। विराट कोहली के नाम वनडे इंटरनैशनल में सबसे तेज 10,000 टेस्ट रन पूरा करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। इस मामले में विराट ने सचिन को काफी पीछे छोड़ दिया। विराट से पहले यह वर्ल्ड रिकॉर्ड सचिन के नाम दर्ज था। सचिन ने 259 पारियों में ऐसा किया था, जबकि विराट कोहली ने महज 205 पारियों में यह कारनामा कर दिखाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.