Wednesday, December 7

युवती के साथ 4 लोगों ने गैंगरेप किया, 1 महीने तक बंधक बना कर रखा

युवती के साथ 4 लोगों ने गैंगरेप किया, 1 महीने तक बंधक बना कर रखा


बूंदी
राजस्थान में गैंगरेप पीड़िताओं को इंसाफ चाहने के लिए चीखना पड़ रहा है। कानून की दहलीज लांघनी पड़ रही है। ताकि राजस्थान की सरकार और सरकार की सोई हुई पुलिस जाग जाए। और पीड़िता के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। लेकिन जब इस तरह की उम्मीदें एक गैंगरेप पीड़िता की टूट गई, तो वह बूंदी जिला मुख्यालय की पानी की टंकी पर जा चढ़ी। वहां उसने अपहरण और दुष्कर्म मामले न्याय मांगते हुए खुद को केरोसिन डालकर खत्म करने की जिला पुलिस प्रशासन को कई बार धमकियां दी। महिला को बाद में न्याय का भरोसा दिलाते हुए समझाकर नीचे उतारा गया। पीड़िता अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म के पुराने मामले में न्याय नहीं मिलने से परेशान होकर पानी की टंकी पर चढ़कर गई थी। पीड़िता ने टंकी से लाखेरी पुलिस उप अधीक्षक के खिलाफ नारेबाजी की। महिला का आरोप है कि उसे अपहरण और दुष्कर्म के मामले में न्याय नहीं मिला है।

बूंदी शहर के आजाद पार्क के नजदीक जलदाय विभाग की पानी टंकी पर महिला चढ़ी, तो किसी की नजर उस पर नहीं थी, लेकिन जब वह टंकी पर चढ़कर जोर-जोर से पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगी, तब लोगों का ध्यान उस पर गया। महिला ने चिल्ला-चिल्लाकर कहा कि उसे दुष्कर्म के मामले में न्याय नहीं मिला है। पीड़िता ने अपने शरीर पर केरोसिन डाल लिया। आत्मदाह की धमकी दी। इस सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस और एएसपी ने महिला से समझाइश की। महिला को जल्द ही न्याय दिलावाने का आश्वासन दिया गया। एएसपी के आश्वासन के बाद महिला पानी की टंकी से नीचे ऊतर आई थी।14 सितंबर को परिजनों ने हिंडोली थाने में महिला की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इसके बाद पीड़िता ने गेंडोली थाने में 12 अक्टूबर को दुष्कर्म और अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। महिला मुकदमे में बताया कि आरोपियों ने 1 महीने तक बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया था। उसने कहा था कि बूंदी जिले के एक गांव से 11 सितंबर को बदमाशों ने उसका अपहरण किया था। एक माह बाद पीड़िता गुडगांव से बदमाशों के चंगुल से निकल अपने गांव पहुंची थी। घटना के बारे में अपने परिजनों को बताया था। मामले में तत्कालीन एसपी शिवराज मीणा के दखल के बाद गेण्डोली थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। लेकिन आज तक उसे इंसाफ के लिए भटकना पड़ रहा हैं। सरकार पुलिस की कार्यप्रणाली की जांच करें। गौरतलब है कि महिला के साथ 4 लोगों ने गैंगरेप किया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.