Wednesday, July 24

RS चुनाव का नामांकन दाखिल करने विधान भवन पहुंचीं अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार

RS चुनाव का नामांकन दाखिल करने विधान भवन पहुंचीं अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार


मुंबई

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और एनसीपी अध्यक्ष अजित पवार की पत्नी सुनेत्र पवार राज्यसभा उपचुनाव के लिए नामांकन करने वाली हैं। वह मुंबई में विधान भवन में अपना पर्चा दाखिल करेंगी। राज्यसभा चुनाव के लिए आवेदन दाखिल करने का आज आखिरी दिन है।

सुनेत्र पवार हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में बारामती से एनसीपी उम्मीदवार और अपनी ननद सुप्रिया सुले से 1.5 लाख से अधिक मतों से हार गई थीं।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में राज्यसभा की एक सीट के लिए उपचुनाव हो रहा है। प्रफुल्ल पटेल के इस्तीफे से यह सीट खाली हुई है। एनसीपी की ओर से सुनेत्रा पवार को मैदान में उतारा जाएगा। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक, एनसीपी विधायकों ने सुनेत्रा पवार को राज्यसभा भेजने की मांग की थी। इसके बाद सुनेत्रा पवार के नाम पर मुहर लगी।

प्रफुल्ल पटेल ने दिया था इस्तीफा
महाराष्ट्र में राज्यसभा की दो सीटें केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल के इस्तीफे से खाली हुई हैं। प्रफुल्ल पटेल ने राज्यसभा की एक सीट से इस्तीफा दिया था। पटेल ने राज्यसभा की जिस सीट से इस्तीफा दिया था। उस सीट के कार्यकाल में चार साल बाकी थे। चुनाव आयोग (ईसीआई) ने फरवरी में पटेल द्वारा खाली की गई राज्यसभा सीट के लिए चुनाव की घोषणा की। नए राज्यसभा सांसद का चुनाव राज्य के विधायकों द्वारा किया जाएगा और एनसीपी के पास दो सत्तारूढ़ सहयोगियों भाजपा और शिवसेना की मदद से सीट जीतने की पूरी ताकत है। राज्यसभा सीट के लिए 25 जून को मतदान होना है। पवार परिवार के अलावा तीसरा नाम छगन भुजबल का है। सूत्रों की मानें तो सुनेत्रा पवार को अजित पवार दिल्ली भेज सकते हैं।

क्या है एनसीपी की ताकत?
अजित पवार की अगुवाई वाली एनसीपी के पास लोकसभा में अभी सिर्फ एक सांसद है। पार्टी के महाराष्ट्र ईकाई के अध्यक्ष सुनील तटकरे इस बार जीते हैं। प्रफुल्ल पटेल राज्यसभा में इकलौते सांसद हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र में पार्टी के पास 40 विधायक है। इसके अलावा 6 विधान परिषद् सदस्य महाराष्ट्र में हैं। 3 विधायक हाल ही में संपन्न हुए अरुणाचल प्रदेश के चुनाव में जीते हैं। लोकसभा चुनावों से पहले चुनाव आयोग अजित पवार के अगुवाई वाली एनसीपी के गुट को असली एनसीपी माना था। इसके बाद उन्हें पार्टी के सिंबल घड़ी का भी इस्तेमाल करने की इजाजत दे दी थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *