Tuesday, November 29

स्थानीय उत्पाद खरीद कर लोकल को वोकल बनाने में सभी सहयोग करें

स्थानीय उत्पाद खरीद कर लोकल को वोकल बनाने में सभी सहयोग करें


भोपाल 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के लघु व्यवसाइयों विशेषकर स्व-सहायता समूहों को  2500 करोड़ रुपए की राशि बैंकों के माध्यम से दिलावई जाएगी। बैंक लिंकेज से इनका व्यवसाय विकसित होगा। स्व-सहायता समूहों के उत्पादों के विक्रय की व्यवस्था की जाएगी। उन्हें बाजारों में बैठने का स्थान दिया जाएगा। इसके लिए सभी कलेक्टरों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने आज छतरपुर जिले के ग्राम धमना में स्थानीय ग्रामवासियों से बातचीत की और संबोधित किया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने लोकल को वोकल बनाने का आव्हान किया है। इससे छोटे-छोटे कारीगरों को भी आर्थिक सहारा मिल सकेगा। इन कारीगरों की दीवाली अच्छी मन जाए, इसके प्रयास करें।  

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कलेक्टर्स को निर्देश दिए गए हैं कि दीवाली पर स्थानीय उत्पात अर्थात देसी सामान को बेचने के लिए हाट- बाजार में स्थान उपलब्ध कराएँ। उस पर कोई राशि न लगे। दीवाली तक यह इंतेजाम करें कि ये लोग अपना सामान बेच पाएँ। किसी प्रकार का टैक्स  इस पर न लगे। मैं इनके द्वारा बनाए गए सामान का प्रमोशन करने आया हूँ। मुख्यमंत्री चौहान आज छतरपुर जिले में दीप पर्व के पहले दीपक, लक्ष्मी जी की मूर्ति और अन्य मिट्टी की कलाकृतियाँ बनाने वाले शिल्पकारों से मिले। मुख्यमंत्री चौहान ने शिल्पकारों से चर्चाकर उनकी हौसला अफजाई की। प्रजापति समाज के अनेक व्यक्तियों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री चौहान ने उनकी कार्य की समस्याओं की भी जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री का माटी शिल्प कला से जुड़े कलाकारों ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री चौहान के आगमन से प्रजापति समाज सहित स्थानीय निवासी काफी प्रसन्न थे। मुख्यमंत्री चौहान ने रोशनी स्व-सहायता समूह की सदस्य बहनों से भी मुलाकात और बातचीत की। मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश में स्व सहायता समूह के आंदोलन को गति देने के लिए जो कदम उठाए हैं , उनकी जानकारी भी बहनों को दी। इस अवसर पर रोशनी स्व सहायता समूह के कार्यों का विवरण मुख्यमंत्री चौहान को दिया गया।

नोनेराम प्रजापति के घर पर किया भोजन
मुख्यमंत्री चौहान ने छतरपुर जिले के राजनगर विकासखण्ड के ग्राम धमना में नोनेराम प्रजापति के घर पहुँचकर परिवार के सदस्यों से परिचय प्राप्त किया। मुख्यमंत्री चौहान का परिवारजन ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री चौहान ने परिवार के सदस्यों के साथ दोना-पत्तल में दोपहर का भोजन किया। परिवार के सदस्यों ने आत्मीय प्रेमभाव से भोजन परोसा। सीएम ने उत्साह से भोजन कर देशी भोजन की तारीफ की। नोनेराम प्रजापति के परिवारजन और यहाँ उपस्थित स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर प्रसन्नता जाहिर की। भोजन के बाद मुख्यमंत्री ने नोनेराम के परिवार के बुजुर्ग सदस्य और पत्नी एवं बच्चों का हालचाल जाना। मुख्यमंत्री चौहान ने छतरपुर जिले के ग्राम धमना में प्रजापति समाज द्वारा हस्त-निर्मित उत्पादों का अवलोकन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी ने लोकल को वोकल बनाने का मंत्र दिया है। हमारे यहाँ लोग जो चीजें बनाते हैं, वही खरीदें। ताकि इन्हें रोजगार मिल सके।

मुख्यमंत्री ने चाक पर बनाया दिया और गमला
मुख्यमंत्री चौहान ने नोनेराम प्रजापति के साथ चाक पर स्वयं मिट्टी का दिया और गमला निर्मित किया। उन्होंने कहा कि मिट्टी निर्मित उत्पादों के लिए मिट्टी की सुलभ उपलब्धता की व्यवस्था बनाई जाएगी। इसके अतिरिक्त माटी कला को बढ़ावा देने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। उन्होंने जनता से मिट्टी के कारीगरों द्वारा निर्मित उत्पादों को खरीदने की अपील की, जिससे इनके उत्पाद की माँग बढ़ सके। मुख्यमंत्री चौहान ने लोगों से कोरोना के टीके लगवाने की अपील भी की ।

महिलाओं ने भेंट किया उपहार
मुख्यमंत्री चौहान को स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने दीपावली के उपहार के रूप में हस्त-निर्मित मिट्टी के दिये और अन्य उत्पादों का गिफ्ट हैम्पर सौजन्य भेंट किया। मुख्यमंत्री ने महिलाओं की आमदनी के बारे में जानकारी ली और समूह की महिलाओं के साथ फोटो खिंचवाई। उन्होंने उपस्थितजन को दीपावली की शुभकामनाएँ दी।

ग्रामीणजन को किया सम्बोधित
मुख्यमंत्री चौहान ने ग्राम धमना में ग्रामीणजन को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्व-सहायता समूह की महिलाओं के प्रयास से स्थानीय उत्पादों को निश्चित ही बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि वे स्थानीय कारीगरों के द्वारा निर्मित उत्पादों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से ग्राम धमना आए हैं। मुख्यमंत्री ने यहाँ हस्त-निर्मित उत्पादों को खरीदा। उन्होंने कहा कि समूह की महिलाओं की आमदनी प्रतिमाह न्यूनतम 10 हजार रुपए करने का प्रयास किया जाएगा। प्रदेश में एक लाख सरकारी पदों पर युवाओं को नौकरी दी जाएगी। निजी नौकरियों में भी रोजगार के लिए बेहतर अवसर उपलब्ध होंगे। स्ट्रीट वेंडर्स योजना के माध्यम से छोटे व्यापारियों को ब्याज रहित 10 हजार रुपए का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने धमना के मिडिल स्कूल को अगले शैक्षणिक-सत्र से हाई स्कूल में उन्नयन करने की बात कही। कार्यक्रम में बड़ामलहरा जन प्रतिनिधियों सहित प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी और ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.