Wednesday, July 24

एंटी करप्‍शन टीम ने रंगे हाथ पकड़ा बाबू को मेडिकल क्लेम पास कराने के लिए लेता था 10% कमीशन

एंटी करप्‍शन टीम ने रंगे हाथ पकड़ा बाबू को मेडिकल क्लेम पास कराने के लिए लेता था 10% कमीशन


गोरखपुर
मेडिकल क्लेम पास कराने के नाम पर घूस मांग रहे सिंचाई विभाग के बाबू को शुक्रवार की दोपहर में एंटी करप्शन की टीम ने रंगेहाथ दबोच लिया। विभाग के एक कर्मचारी ने ही एंटी करप्शन में शिकायत की थी जिसके बाद एक योजना के तहत टीम ने गोरखनाथ स्थित सिंचाई विभाग के आफिस से बाबू को 4700 रुपये दबोच लिया। एंटी करप्शन की टीम ने शाहपुर थाने में उसके खिलाफ केस दर्ज कराया। बांसगांव निवासी अखिलेश कुमार राव गोरखनाथ में सिंचाई विभाग में कनिष्ठ सहायक पद पर कार्यरत हैं। अखिलेश के मुताबिक सितंबर महीने में उनकी पत्नी को एक प्राइवेट हॉस्पिटल में ऑपरेशन से बच्चा पैदा हुआ था। इलाज में 47 हजार 6 सौ रुपये खर्च हुआ था। जिसका मेडिकल क्लेम लेने के लिए उन्होंने विभाग में आवेदन किया था। आरोप है कि बाबू विनोद कुमार ने मेडिकल क्लेम पास करने के लिए 10 प्रतिशत घूस मांगा। घूस न देने पर उन्होंने क्लेम नहीं पास कराया और दौड़ाना शुरू कर दिया था। अखिलेश ने बाबू से मेडिकल क्लेम पास करने के लिए कई बार गुहार लगाई लेकिन पर उसने बिना रुपए लिए पास करने से इंकार कर दिया। जिसके बाद अखिलेश ने एंटी करप्शन में शिकायत की और उनके कहे अनुसार विनोद कुमार को घूस की रकम देने को तैयार हो गए। टीम ने शुक्रवार को पूरे प्लानिंग के साथ आरोपी बाबू को घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। गोरखनाथ थाने में केस दर्ज कराया है।

रिटायर्ड सीओ का बेटा है बाबू विनोद कुमार
पुलिस सूत्रों के मुताबिक शाहपुर इलाके के जंगल सालिक राम निवासी व सिंचाई विभाग में बाबू के पद पर तैनात विनोद कुमार के पिता पुलिस उपाधीक्षक पद से रिटायर्ड हैं।

मेडिक्लेम पास कराने में पकड़ा गया था पुलिस विभाग का बाबू
मेडिकल क्लेम पास कराने में पुलिस विभाग के बड़े बाबू ज्ञानेन्द्र सिंह को भी रंगेहाथ पुलिस अफिस में ही गिरफ्तार किया गया था। घूस कांड में बाबू को बर्खास्त किया जा चुका है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *