Tuesday, February 7

Asia Cup 2022: रोमांचक सेमीफाइनल में कोरिया ने भारत से छीनी जीत, आखिरी 10 मिनट में बदला खेल

Asia Cup 2022: रोमांचक सेमीफाइनल में कोरिया ने भारत से छीनी जीत, आखिरी 10 मिनट में बदला खेल


नई दिल्ली।
 महिला हॉकी के एशिया कप 2022 में डिफेंडिंग चैम्पियन के रूप में उतरी भारतीय टीम को कोरियाई टीम के खिलाफ बुधवार को खेले गये सेमीफाइनल मैच में बड़े उलटफेर का सामना करना पड़ा, जहां पर दोनों ही टीमों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए काफी दमदार खेल दिखाया, हालांकि अंत में कोरिया की टीम जीत हासिल करने में कामयाब रही और फाइनल में जगह पक्की कर ली। मस्कट में खेले गये इस रोमांचक सेमीफाइनल मैच में कोरिया की टीम ने भारतीय महिला टीम को 3-2 से मात दी। इस मैच में जहां कोरिया के लिये यूंबी चेओन (31'), सेउंग जू ली (45') और हाइजिन चो (47') ने तीन गोल किए तो वहीं पर भारत के लिये नेहा (28') और लालरेम्सियामी (54') ने दो गोल दागे।

ओमान में खेले जा रहे इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम ने फ्रंट फुट पर रहते हुए शुरुआत की और लगातार कोरियाई सर्किल में प्रवेश कर उनके डिफेंस को चुनौती देते नजर आये। मैच के तीसरे ही मिनट में वंदना कटारिया की चुनौती ने भारत को पहला पेनाल्टी कॉर्नर दिलाया लेकिन कोरियाई डिफेंस को भेद पाना आसान नहीं रहा। कोरियाई टीम को भारतीय हाफ में प्रवेश करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा, खासतौर से जिस तरह से मिडफील्डर्स ने प्रदर्शन किया। इस दौरान मैच के 12वें मिनट में नवजोत कौर ने एक लॉन्ग पास दिया जो मोनिका के पास गिरा, मोनिका ने मरियाना को पास किया और मरियाना ने लालरेमसियामी को, जिनकी स्टिक से लगकर गेंद नेटस पर चली गई, हालांकि इस गोल को अवैध करार दिया गया और पहले क्वार्टर के बाद स्कोरलाइन 0-0 ही रही।
 

दूसरे क्वार्टर में भी भारत ने अपना आक्रामक खेल जारी रखा और 16वें मिनट में कोरियाई डिफेंस को झकझोर कर रख दिया, कोरियाई गोलकीपर किसी तरह से इस गोल को बचाने में कामयाब रही लेकिन भारतीय टीम ने कोरियाई डिफेंस को लगातार बैकफुट पर रखा। 20वें मिनट में कोरिया की टीम को लगातार पेनाल्टी कॉर्नर मिले लेकिन सविता ने शानदार डिफेंस दिखाते हुए गोल नहीं होने दिया। दूसरे क्वार्टर को खत्म होने से दो मिनट पहले कोरियन डिफेंडर्स से डिफ्लेक्ट हुई गेंद को नेहा ने नेटस पर पहुंचा दिया और भारत ने 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

तीसरे क्वार्टर में कोरियाई टीम ने एक जल्दी पेनाल्टी कॉर्नर के दम पर वापसी कर ली। कोरियाई कप्तान ने 31वें मिनट में बराबरी का गोल दागा। इस गोल के बाद भी भारत का आक्रामक खेल जारी रखा लेकिन कोरियाई डिफेंस किसी तरह से अपने को बचाने में कामयाब रहा। 42वें मिनट में भारत को एक और पेनाल्टी कॉर्नर मिला लेकिन गुरजीत कौर का यह ड्रैगफ्लिक गोलपोस्ट में लगकर बाहर की तरफ चला गया। तीसरे क्वार्टर के आखिरी मिनट में कोरिया की सेउंग जू ली भारतीय डिफेंस को भेदने में कामयाब रहीं और गोल दोगकर 2-1 की बढ़त दिला दी।
 

इस बढ़त के चलते कोरिया ने चौथे क्वार्टर की शुरुआत आत्म-विश्वास के साथ की और खेल शुरु होने के दो मिनट बाद एक और गोल दागकर बढ़त को 3-1 कर दिया। भले ही कोरिया की टीम ने 3-1 की बढ़त हासिल की थी लेकिन वंदना कटारिया और लालरेमसियामी के आक्रामक खेल के चलते कोरियाई डिफेंस लगातार बैकफुट पर बना हुआ था। 54वें मिटन में लालरेमसियामी ने गोल दागकर बढ़त के अंतर को 3-2 कर दिया। इस रोमांचक मुकाबले के आखिरी मिनटों में भारतीय टीम तीसरी गोल ढूंढती रही लेकिन कोरिया की टीम ने किसी तरह से मैच को बचा लिया। गौरतलब है कि अब भारतीय टीम को तीसरे स्थान के लिये जापान या फिर चीन की टीम के साथ शुक्रवार को मैच खेलना होगा जिसका आगाज शाम 6 बजे से होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.