Sunday, March 26

बाबा केदारनाथ शीतकालीन प्रवास के लिए उखीमठ रवाना, 6 महीने के लिए बंद हुए कपाट

बाबा केदारनाथ शीतकालीन प्रवास के लिए उखीमठ रवाना, 6 महीने के लिए बंद हुए कपाट


 केदारनाथ

बाबा केदारनाथ के कपाट शनिवार को विधि विधान से पूर्जा अर्चना के बाद 6 महीने के लिए बंद हो गए. बाबा अब 6 महीने के शीतकालीन प्रवास पर उखीमठ में रहेंगे. बाबा केदार शनिवार को फूलों से सजी डोली पर आर्मी बैंड की अगुआई में ओम्कारेश्वर मन्दिर उखीमठ के लिए रवाना हो गए. बाबा की डोली के साथ हजारों भक्त भी रवाना हुए.

केदार की डोली अपना पहला रात्रि प्रवास रामपुर और कल गुप्तकाशी में करेगी. 8 नवंबर को डोली शीतकालीन गद्दीस्थल ओम्कारेश्वर मंदिर ऊखीमठ पहुंचेगी. अब बाबा केदारनाथ की 6 महीने तक यहीं पूजा होगी.

भैयादूज के अवसर पर बंद हुए कपाट

देव स्थानम बोर्ड के पुजारी ने बताया कि द्वादश ज्योतिर्लिंग में अग्रणी बाबा केदार के कपाट आज भैयादूज के अवसर पर सुबह आठ बजकर तीस मिनट पर बंद कर दिए गए. बाबा केदार अपने भक्तों के साथ शीतकालीन गद्दीस्थल ओम्कारेश्वर मन्दिर ऊखीमठ के लिए रवाना हो गए. अब 6 महीने तक बाबा की यहीं पूजा होगी.
 
पुजारी ने बताया कि आज कपाट बंद होने से पहले स्वयम्भू लिंग को अनेक पूजा की सामग्री से समाधि दी गई. जिसके बाद पहले मंदिर के गर्भगृह और फिर मुख्य द्वार को 6 महीने के लिए बंद किया गया. केदारनाथ में शुक्रवार को बर्फबारी भी हुई थी. इसके बाद से ही केदारधाम में रह रहे श्रद्धालुओं का नीचे आना शुरू हो गया था.

5 नवंबर को पीएम मोदी पहुंचे थे केदारनाथ धाम

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शुक्रवार को केदारनाथ धाम पहुंचे थे. उन्होंने यहां केदार मंदिर में पूजा अर्चना की थी. इसके बाद उन्होंने आदिगुरु शंकराचार्य की 12 फीट ऊंची प्रतिमा का भी अनावरण किया था. पीएम मोदी ने केदारधाम में चल रही परियोजनाओं का भी जायजा लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.