Saturday, November 26

मिठाई खरीदें संभलकर पर किससे..?

मिठाई खरीदें संभलकर पर किससे..?


रायपुर। मिठाई खरीदें संभल कर, सावधान करने से क्या होगा। लोग सवाल कर रहे हैं उन विभागों से जो हर साल दीपावली में ऐसा करते हैं। पिछली बार भी कई दुकानों पर कार्रवाई हुई थे सेंपल लिए गए थे लेकिन क्या हुआ जांच रिपोर्ट का आज तक पता नहीं चला। फिर वही राग-वही डफली शुरू हो गया। दुकानों में जाकर देखने से साफ नजर आ रहा है कि किस हद तक खुले में मिठाईयां बेंची जा रही है। बड़े दुकानों से लेकर गली मोहल्लों व सड़कों पर मिठाई की दुकानें सजी हुई है। कहां तक पहुंच रही है चेतावनी देने वाली टीम और लोगों को क्या फुर्सत की वे शिकायत करते रहें। लाखों रूपए की मिठाई खपना तो तय है। कुछ जगहों से खबर जरूर आई कि छापा मारा गया है,जुमार्ना ठोंका गया है। लेकिन मिठाई तो खरीदना है शुद्धता की गारंटी कैसे मापे ग्राहक? कल दीपावली जो है। विभाग की चेतावनी को वे मानने तैयार हैं पर खरीदें तो आखिर किससे?

दीपावली पर मिठाईयों में मिलावट का खेल चलना सामान्य सी बात है।  दुकानों से बाहर तक पंडालों में दुकानें सजी हुई है। दुकानों की भीड़ देख कर अंदाजा लगा सकते हैं कि कहीं पर भी कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। दुकानों में खरीदी करने पहुंचे लोग कहते मिले कि भरोसे में वे मिठाई खरीद रहे हैं बाकी तो दुकानदार ही जाने। मिठाईयों की कीमतें भी आसमान छू रही है। उपयोग होने वाली सामग्रियों के दाम बढ?े से मिठाईयों के दाम भी इस बार 20 फीसदी ज्यादा महंगे हो गए हैं। हालांकि एक बड़ा तबका बगैर मावा वाले पैक्ड मिठाईयों की ओर रूख कर लिया है।  

हालांकि बताया जा रहा है कि विभाग दुकानों पर पहुंचकर घी, मावा, दूध सहित ड्राय फूड से बनी मिठाईयों की जांच कर रही है और सैंपल ले रही है। इसके साथ साफ – सफाई सहित अन्य कई बिंदुओं पर भी बाजार में जांच पड़ताल और छानबीन हो रही है। अफसरों का कहना है कहीं से भी शिकायत मिलने पर हाथों हाथ जांच पड़ताल कर कार्रवाई की जा रही है। लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर खराब खाद्य सामग्री का उपयोग पर मिठाईयां और नमकीन बनाने वालों की जांच के लिए टीम अलर्ट है। कहीं से भी शिकायत मिलने पर जांच कर दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी। टीमें लगातार छानबीन और जांच पड़ताल कर बाजार से सैंपलिंग भी कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.