Friday, February 3

सीबीआई ने सुरेंद्र पटवा के यहां मिले दस्तावेजों की छानबीन की तेज

सीबीआई ने सुरेंद्र पटवा के यहां मिले दस्तावेजों की छानबीन की तेज


भोपाल
पूर्व मंत्री एवं भोजपुर से विधायक सुरेंद्र पटवा द्वारा बैंक आॅफ बड़ौदा में 29 करोड़ से ज्यादा की हेराफेरी के मामले में सीबीआई ने दस्तावेजों की छानबीन शुरू कर दी है। ये सभी दस्तावेज सुरेंद्र पटवा और मोनिका पटवा के यहां से सीबीआई ने शुक्रवार को बरामद किए थे।
इस मामले की जांच सीबीआई के डीएसपी अतुल हजेला के नेतृत्व में की जा रही है। जांच में फिलहाल पटवा के इंदौर के दो ठिकानों और भोपाल स्थिति निवास से मिले दस्तावेजों की जांच की जा रही है। अभी बैंक आॅफ बड़ौदा ने शिकायत के साथ सीबीआई को दस्तावेज नहीं दिए गए हैं। ये दस्तावेज सोमवार तक सीबीआई के पास पहुंच सकते हैं। वहीं आईडीबीआई बैंक से भी सीबीआई दस्तावेज मांग सकती है। पटवा ने  यह पूरी हेराफेरी बैंक आॅफ बड़ौदा और आईडीबीआई के पैसों पर की है।

यह है मामला
पटवा के खिलाफ सीबीआई ने 29 करोड़ की हेराफेरी का प्रकरण दर्ज किया है। इस मामले में उनकी इंदौर स्थित आॅटोमोबाइल कंपनी पर भी प्रकरण दर्ज किया है। यह प्रकरण बैंक आॅफ बड़ौदा के इंदौर रीजनल के डिप्टी जनरल मैनेजर राजेश शर्मा के आवेदन पर सीबीआई की भोपाल यूनिट ने दर्ज किया है। शिकायत में बताया गया है कि कंपनी के डायरेक्टर्स ने 2014 से 2017 के बीच यह धोखाधड़ी की। पटवा ने बैंक का लोन में मिले रुपए दूसरे खातों में ट्रांसफर कर उनका दुरुपयोग किया। पटवा ने अपनी एक कंपनी का नाम बदल दिया था। कंपनी का नाम बदलने की जानकारी बैंक को नहीं दी गई। कंपनी के जो प्रमोटर्स थे उन्होंने इसके लिए बैंक की सहमति भी नहीं ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.