Saturday, November 26

मुख्यमंत्री चौहान ने 426 मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवासों का किया वर्चुअल लोकार्पण

मुख्यमंत्री चौहान ने 426 मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवासों का किया वर्चुअल लोकार्पण


भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ग्रामीण अधोसंरचना से गाँव की बदहाली दूर कर अर्थ-व्यवस्था को स्वावलंबी बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान ने शनिवार को बुधनी तहसील के 40 ग्रामों में मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवास योजना से निर्मित्त 400 से अधिक आवासों का ग्राम सोमलवाड़ा से शुभारंभ कर हितग्राहियों को वर्चुअल गृह प्रवेश करवाया। सांसद रमाकांत भार्गव भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गाँव के उत्पादों और हुनर को अर्थ-व्यवस्था से जोड़ने के लिए महिलाओं के स्व-सहायता समूह को प्रशिक्षण देने के साथ बैंक से वित्तीय मदद उपलब्ध कराई जाएगी। उत्पादों के क्लस्टर बनाकर मार्केट भी उपलब्ध करवाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि सोमलवाड़ा सहित अन्य सभी गाँवों में महिला स्व-सहायता समूहों को बैंक से ऋण और प्रशिक्षण की व्यवस्था करें।

मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि बुधनी के करीब 40 गाँव गत वर्ष बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुए थे। इन गाँवों में मुख्यमंत्री राहत आवास योजना में 626 आवास स्वीकृत किए गए थे, जिसमें से आज 400 से अधिक आवासों का शुभारंभ कर हितग्राहियों को गृह प्रवेश करवाया गया है। सोमलवाड़ा में हुए गृह प्रवेश कार्यक्रम से अनेकों गाँव वर्चुअली शामिल हुए। प्रत्येक आवास के लिये मुख्यमंत्री राहत के रूप में 95 हज़ार, शौचालय निर्माण के लिए 17 हज़ार और मनरेगा से 90 दिन का रोजगार भी दिया गया था।

मुख्यमंत्री चौहान ने ग्रामीणों की मांग पर सोमलवाड़ा में मिनी आंगनवाड़ी और स्कूल भवन के निर्माण के साथ नांदमेर से सोमलवाड़ा तक 6 गाँव को जोड़ने वाले मार्ग तथा पुल निर्माण की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री ने कराया गृह प्रवेश

मुख्यमंत्री चौहान ने नवीन आवासों का वर्चुअल शुभारंभ कर आवास हितग्राहियों को गृह प्रवेश करवाया। सोमलवाड़ा गाँव के हितग्राही मुकेश और जगदीश के घर पहुँचकर मुख्यमंत्री चौहान ने विधिवत गृह प्रवेश करवाया और हितग्राही के परिवारजनों के साथ चाय भी पी। इस मौके पर  अन्य लाभान्वित परिवारों से संवाद भी किया। उन्होंने सोमलवाड़ा में बने आवासों की तारीफ भी की। सांसद भार्गव ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया।

मुख्यमंत्री बाढ़ राहत आवास योजना

बुधनी जनपद के 18 ग्रामों के 224 तथा नसरूल्लागंज जनपद पंचायत के 29 ग्रामों के 402 हितग्राहियों को बाढ़ राहत आवास स्वीकृत किये गये थे। प्रत्येक हितग्राही को 95 हजार 100 रुपये आरबीसी 6-4 से तथा मनरेगा योजना से 90 दिवस की मजदूरी राशि 17 हजार 100 रूपये इस प्रकार कुल राशि 1 लाख 12 हजार 200 रुपये प्रति हितग्राही स्वीकृत किये गये। स्वीकृत 626 आवासों में से 450 आवास पूर्ण चुके हैं और 176 प्रगतिरत हैं। सोमलवाड़ा ग्राम में 44 आवास स्वीकृत किये गये थे। ये सभी आवास पूर्ण हो चुके हैं। योजना में पशुपालकों को पशुहानि के लिये भी राहत प्रदान की गई और पशुशेड बनाकर दिये गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.