Saturday, December 3

समय की पाबंदी के साथ श्रेष्ठ कार्य संस्कृति विकसित करें – राज्य मंत्री परमार

समय की पाबंदी के साथ श्रेष्ठ कार्य संस्कृति विकसित करें – राज्य मंत्री परमार


भोपाल

समय की पाबंदी, लगन-शीलता और उत्कृष्ठता के साथ सभी कर्मचारी श्रेष्ठ कार्य संस्कृति विकसित करें। जैसे शरीर में सभी अंगों का महत्व है, वैसे ही सरकार में फाइल लाने,आदेश जारी करने, आदेश का पालन कराने वाले सभी का महत्व है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में सरकार सतत कल्याणकारी कार्य कर रही है। इसी क्रम में सरकार की मंशा है कि अच्छे कार्य करने वाले कर्मचारियों को पुरस्कृत किया जाए। यह बात स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार ने मंत्रालय में दफ्तरी राजकुमार पटेल को वर्ष 2019-20 का देवी प्रसाद शर्मा  पुरस्कार प्रदान करने के दौरान कही। मंत्री परमार ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में पदस्थ  राजकुमार पटेल को पुरस्कार स्वरूप एक लाख रूपये का चेक और प्रमाण-पत्र प्रदान किया।

देवी प्रसाद शर्मा राज्य-स्तरीय पुरस्कार वर्ष 2017 से प्रारंभ किया गया है। यह मंत्रालय के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को प्रदान किया जाता है। कार्य के प्रति निष्ठा, समय की पाबंदी, उपस्थिति, लगनशीलता और उत्कृष्टता के आधार पर कमेटी द्वारा पुरस्कार के लिये योग्य कर्मचारी का चयन किया जाता है।  

मंत्री परमार ने कहा कि पुरस्कार योजना से सभी कर्मचारी-साथियों में काम के प्रति निष्ठा और समय पर काम करने के प्रति प्रतिबद्वता को बल मिलेगा। सबके मन में यह भाव रहेगा कि जितना ज्यादा अच्छा काम करेंगे उसको उतना अधिक सम्मान मिलेगा। परमार ने पुरस्कृत दफ्तरी पटेल को शुभकामनाएँ देते हुए सभी कर्मचारियों से समाज के हित में कार्य करने की बात कही।

   अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विनोद कुमार ने कहा पुरस्कार सभी को अपने कार्य तल्लीनता से करने की प्रेरणा और प्रोत्साहन देता है। पुरस्कार मिलने से उत्कृष्ठ कार्य करने की प्रतिस्पर्धा विकसित होती है। इससे सभी अपने कार्य में अपना सौ प्रतिशत योगदान देने का प्रयास करते हैं।

   कार्यक्रम में कर्मचारी नेता सुधीर नायक ने पुरस्कार योजना की पृष्ठभूमि एवं महत्व को बताया। पुरस्कार प्राप्त कर्मचारी राजकुमार पटेल ने सेवा से जुड़े अपने अनुभव सुनाये। इस अवसर पर उप-सचिव सामान्य प्रशासन गिरीश शर्मा, डी.के. नागेन्द्र, श्रीमती दिशा प्रणय नागवंशी एवं मंत्रालय के कर्मचारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.