Saturday, November 26

दीक्षांत समारोह में गुलज़ार को नहीं मिलेगी उपाधि

दीक्षांत समारोह में गुलज़ार को नहीं मिलेगी उपाधि


 प्रयागराज                          

इलाहाबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय में कल होने वाले दीक्षांत समारोह में जाने-माने गीतकार गुलज़ार को मानद की उपाधि से नहीं नवाजा जा सकेगा. इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने गुलज़ार के नाम का प्रस्ताव केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को तो भेजा लेकिन अभी उसको मंजूरी नहीं मिल सकी है.

गुलज़ार को नहीं मिलेगी उपाधि

गीतकार गुलज़ार के नाम का प्रस्ताव अर्थशास्त्र विभाग के प्रोफेसर प्रशांत घोष ने एकेडमिक काउंसिल की बैठक में डिलिट (DLitt) की मानद की उपाधि के लिए सुझाया था. अगस्त को हुई कार्य परिषद की एक बैठक में कविता फिल्म और संस्कृति में उनके योगदान के लिए गुलज़ार की मानद की उपाधि देने का एक प्रस्ताव पारित किया गया था. इसके बाद अंतिम मोहर के लिए विश्वविद्यालय प्रशाशन ने केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को भेजा था. लेकिन अभी भी मंत्रालय से गुलज़ार के नाम की मंजूरी का इंतजार किया जा रहा है.

माना जा रहा है कि गीतकार गुलज़ार अब 8 नवम्बर को इलाहाबाद विश्वविद्यालय में होने वाले दीक्षांत समारोह में शामिल नहीं हो सकेंगे, न उनके आने की कोई सूचना मिली है. इलाहाबाद विश्वविद्यालय की पीआरओ जया कपूर के मुताबिक गीतकार गुलज़ार को डिलिट (DLitt) की मानद उपाधि के लिए भेजे गए प्रस्ताव को अभी मंजूरी नही मिल सकी है.

 

इस दिन होगा दीक्षांत समारोह

8 नवम्बर को इलाहबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह आयोजित होने जा रहा है. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केंद्रीय उच्च शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान होंगे. कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के कुलाधिपति आशीष कुमार चौहान भी शामिल होंगे. आशीष कुमार चौहान बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एक्सीक्यूटिव ऑफिसर है.

दीक्षांत समारोह में 2018-19 और 2019-20 दो सत्रों के मेधावियों को मेडल और पीएचडी की उपाधि दी जाएगी. कुल 263 बच्चों को अलग-अलग कैटेगरी में मैडल प्रदान किये जाएंगे. इनमें दोनों सत्रों के 5-5 यानी कुल 10 स्टूडेंट को चांसलर मेडल दिए जाएंगे. कार्यक्रम में 550 शोधार्थियों को पीएचडी की उपाधि से भी नवाजा जाएगा.

इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि धर्मेंद्र प्रधान विश्वविद्यालय में 3 नव निर्मित इमारतों का उद्घाटन भी करेंगे जिनमें 124 सीटों वाला गार्गी महिला छात्रावास, 34  सीटों वाला चंद्रशेखर आजाद इंटरनेशनल हॉस्टल और मेजर ध्यानचंद्र स्टूडेंट एक्टिविटी सेंटर शामिल है. इलाहाबाद विश्वविद्यालय की जनसंपर्क अधिकारी डॉक्टर जया कपूर ने बताया कि जिन 4 छात्रों को चांसलर गोल्ड मेडल से नवाजा जाएगा उनमें BALLB  के हिमांशु दुबे, MSC कॉग्निटिव साइंस के शिवनेकर रेवती विजय,  BCA की अंशिका मित्तल और MSC बॉटनी की माधवी सिंह शामिल हैं.

चांसलर सिल्वर मेडल पाने वालों में BSC बायो ग्रुप की नेहा मिश्रा,MSC कंप्यूटर साइंस की श्रेया अग्रवाल, बीए की साल्विका उपाध्याय और MSC बायोटेक्नोलॉजी के शशांकमणि त्रिपाठी शामिल हैं. ब्रांच मेडल पाने वालों में बीए के कुलभूषण तिवारी, बीटेक के उर्जा श्रीवास्तव शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.