Friday, December 9

बिलासपुर में जमकर हुई खरीदारी, चांदी के सिक्कों ने बनाया नया रिकार्ड

बिलासपुर में जमकर हुई खरीदारी, चांदी के सिक्कों ने बनाया नया रिकार्ड


बिलासपुर। धनतेरस पर बाजार में जमकर धनवर्षा हुई। दुकान और शो रूम में पैर रखने तक की जगह नहीं थी। महामुहूर्त पर लोगों ने पूजन सामग्री के साथ सबसे ज्यादा चांदी के सिक्के खरीदे। वर्ष 2020 में जहां 21,586 सिक्कों की बिक्री हुई तो वहीं इस साल रात 10 बजे तक रिकार्ड 26,856 सिक्के बिके। इनमें पांच,10 और 20 ग्राम के सिक्के शामिल हैं।

कोरोना महामारी की मार से जूझ रहे व्यवसायियों के चेहरों पर गजब की मुस्कान रही, वहीं दिवाली से पहले चहुं ओर उत्सव का माहौल दिखा। लगभग सभी सेक्टरों में ग्राहकों ने खरीदारी की। सबसे ज्यादा सराफा, इलेक्ट्रानिक्स और आटोमोबाइल सेक्टर में भीड़ रही। इलेक्ट्रानिक्स बाजार ने इस साल चाइनीज समानों को पूरी तरह स्वाहा कर दिया। व्यापारियों ने इंडिया फस्र्ट को प्राथमिकता देते हुए चाइनीज समानों का बायकाट किया। ग्राहक भी जागरूक और सतर्क नजर आए।

चाइनीज एलइडी लाइट खरीदते वक्त कई बार पूछताछ करते दिखे। यहां तक कि मोमबत्ती खरीदने से भी ग्राहकों ने परहेज किया। सड़क किनारे लगे कुम्हारों के दीए पर फोकस किया। प्लास्टिक के सजावटी फूलों की अपेक्षा कुम्हारों के हाथों से बने समानों को खरीदा। टेराकोटा से लेकर राजस्थान, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल के दीये, रंगोली और समानों की जमकर बिक्री हुई।

सराफा में 50 करोड़ से अधिक की खरीदारी
सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष राजू सलूजा ने बताया कि इस साल बाजार पूरी तरह से गुलजार था। रात 12 बजे के बाद भी कुछ दुकानें खुली रही। न्यायधानी में सिर्फ सराफा में 50 करोड़ से अधिक के कारोबार का अनुमान है। चांदी की रिकार्ड सिक्के बिके हैं। हालांकि अधिकांश ग्राहकों ने चांदी के मूर्ति जिसमें लक्ष्मी, गणेश और सरस्वती को पसंद किया। इसके अलावा लोगों ने सोने की भी बंपर खरीदारी की है।

स्वदेशी के जरिए सेना का बढ़ाया मनोबल
सराफा, आटोमोबाइल, स्टील, रेडीमेड, इलेक्ट्रानिक्स सहित रीयल इस्टेट में जबरदस्त उत्साह नजर आया। पुराना बस स्टैंड, टेलीफोन एक्सचेंज रोड, गोल बाजार, सदर बाजार, गांधी चौक एवं बुधवारी बाजार में भीड़ देखते बन रही थी। स्वदेशी समानों की खरीदारी के जरिए लोगों ने भारतीय सेना का मनोबल बढ़ाया है। चाइनीज समानों का बायकाट करते हुए लोगों ने चाइना को बाजार से हटाकर अपनी नाराजगी जाहिर किया।

सबसे ज्यादा खरीदे गए 10 सामान
01 13 नग मिट्टी के दीये
02 चांदी के सिक्के
03 स्टील, कांसे के बर्तन
04 झाड़ू
05 मारुति कार
06 एक्टिवा व होंडा की बाइक
07 डबल डेकर फ्रिज
08 एलईडी टीवी
09 मोबाइल
10 गिफ्ट आइटम, मिठाई व अन्य

भीड़ में भूले संक्रमण को
ग्राहक और दुकानदार बेचने और खरीदने में इतने व्यस्त थे कि किसी को भी कोरोना संक्रमण के खतरे का अंदाजा नहीं था। मास्क, सैनिटाइजर तो दूर शारीरिक दूरी के पालन की धज्जियां उड़ी। अमूमन सभी दुकानों में जबरदस्त भीड़ थी। यातायात व्यवस्था कायम करने में यातायात पुलिस हमेशा की तरह विफल रही। नगर निगम की व्यवस्था भी खास नहीं थी। सुरक्षा को लेकर भी कोई इंतजाम नहीं किया गया था।

बाजार में यह चर्चा भी रही
01 सोना व चांदी के भाव कम होने से ग्राहकों को लाभ हुआ।
02 विदेशी कार कंपनी ग्राहकों को डिलीवरी नहीं दे सकी।
03 फर्नीचर की ओर रुझान। पहले की अपेक्षा अधिक बिक्री।
04 छोटी दीवाली व दीपावली पर बाजार में बना रहेगा उत्साह।
05 बिलासपुर में करीब 200 करोड़ के कारोबार का अनुमान।

एटीएम में पर्याप्त नगदी, नए नोट मांगे
धनतेरस में एटीएम में इस बार पर्याप्त नगदी था। ग्राहकों को कोई समस्या नहीं हुई। अधिकांश बैंकों ने एक,दो, पांच, 10 व 20 के नए सिक्के भी ग्राहकों को दिए। पीएनबी लिंगियाडीह के शाखा प्रबंधक ललित अग्रवाल ने बताया कि बड़ी संख्या में ग्राहकों को 10, 20, 50, 100, 200 और पांच सौ के नए नोट भी लेकर गए है। हालांकि 2000 के नए नोट की डिमांड आई थी लेकिन संभव नहीं हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.