Saturday, December 3

मैहर के रोपवे में एक माह में तीसरी बार आई खराबी ,श्रद्धालुओं के लिए आफत

मैहर के रोपवे में एक माह में तीसरी बार आई खराबी ,श्रद्धालुओं के लिए आफत


सतना
 मैहर की त्रिकुट पहाड़ी पर स्थित मां शारदा के दर्शन के लिए रोपवे से जाने वाले श्रद्धालुओं की इन दिनों आफत है। रोपवे का संचालन कई साल से दामोदर इंफ्रा कंपनी कर रही है। शनिवार को एक बार फिर रोपवे गच्चा दे गया। बताया कि सुबह 10 बजे यात्रियों से लोड ट्रॉली अचानक रुक गई। हंगामे की आशंका के चलते एसडीएम धर्मेंद्र मिश्रा और टीआइ विद्याधर पांडेय मौके पर पंहुचे थे। बताया गया कि एक माह के अंदर यह तीसरा मामला है जब रोपवे खराब हुआ। इसके पहले नवरात्र में 10 अक्टूबर, 16 अक्टूबर को भी रोपवे दगा दे गया था। इससे दर्शनार्थियों को भारी दिक्कत झेलनी पड़ी थी। तब कलेक्टर अजय कटेसरिया ने रोपवे बंद करने के आदेश तकनीकी जांच होने तक दिए थे। इसके तीसरे दिन ही रोपवे ने एक जांच कराई और फिर संचालन शुरू कर दिया गया था। इस बार रोपवे की मुख्य मोटर लोड नहीं ले रही। एक माह में दो बार मेंटीनेंस के बावजूद रोपवे संचालन में गड़बड़ी सामने आने से प्रशासन की कागजी कार्रवाई भी सवालों में है।

चेन्नई से बुलाई टेक्नीशियन की टीम
शनिवार को रोपवे के अचानक बंद होने से सबसे ज्यादा फजीहत प्रशासन और पुलिस की हुई। सुबह 10.30 से शाम 6 बजे तक पुलिस दर्शनार्थियों के सुरक्षित आवागमन की व्यवस्था बनाने में लगी रही। दर्शनार्थी के लिए वैन की सुविधा लगाई गई थी, जिसके लिए पहाड़ी के हर खंड में पुलिस बल तैनात किया गया। बताया जाता है कि रोपवे प्रबंधन ने मोटर व मशीनों की मरम्मत के लिए आनन-फानन चेन्नई से तकनीशियन की टीम बुलाई है। जो प्लेन से खजुराहो में उतर मैहर आएगा।

प्रशासक ने थमाई नोटिस
शनिवार को रोपवे बंद होने पर कंपनी के कर्मचारी टिकट कटा चुके श्रद्धालुओं को सही जानकारी नहीं दे रहे थे। प्रशासन को जब दर्शनार्थियों के जरिए सूचना मिली तो रोपवे प्रबंधन का गैर जिम्मेदाराना रवैया देखकर एसडीएम और प्रशासक धर्मेंद्र मिश्रा ने कर्मचारियों को फटकार लगाते हुए प्रबंधन को नोटिस थमाई। नोटिस में कहा गया कि रोपवे बंद होने से जनता की फजीहत होती है। नोटिस में रोपवे कंपनी का अनुबंध निरस्त करने की चेतावनी दी गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.