Saturday, November 26

पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार का कोई प्लान नहीं

पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार का कोई प्लान नहीं


नई दिल्ली

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत गरीबों को नवंबर के बाद मुफ्त राशन शायद नहीं मिलेगा।  खाद्य सचिव ने कहा कि इस स्कीम के तहत नवंबर के बाद भी गरीबों को राशन दिए जाने का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है। बता दें कि बीते साल से ही केंद्र सरकार की ओर से इस स्कीम के तहत गरीब परिवारों को मुफ्त राशन मुहैया कराया जा रहा है। इसी साल जून में पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से इस स्कीम को नवंबर तक बढ़ाने का ऐलान किया गया था। पीएम मोदी ने 30 जून के अपने भाषण में कहा था कि 8 महीने में मुफ्त राशन के वितरण में सरकार को कुल 1.5 लाख करोड़ रुपये की रकम खर्च करनी पड़ी है।

खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने  कहा, 'अर्थव्यवस्था अब सुधार की ओर बढ़ रही है। ऐसे में पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार का कोई प्लान नहीं है।' महंगे खाद्य तेल की महंगाई के सवाल पर उन्होंने कहा कि देश कई राज्यों में इसमें कमी देखने को मिल रही है। 7 रुपये से लेकर 20 रुपये तक कमी अलग-अलग स्थानों पर देखने को मिली है। पाम ऑइल, मूंगफली के तेल और सनफ्लावर ऑइल में कमी दिख रही है। बता दें कि बीते कुछ दिनों में खाद्य तेलों की महंगाई बड़ा मुद्दा बना है। जिसमें सरकार के प्रयासों से मामूली कमी आई है, लेकिन अब भी इसकी कीमत 200 रुपये प्रति लीटर के पार ही बनी हुई है।

सुधांशु पांडेय ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत केंद्र सरकार लगभग 793.9 मिलियन लाभार्थियों को प्रति व्यक्ति प्रति माह 5 किलो मुफ्त खाद्यान्न प्रदान कर रहा है। योजना के लाभार्थी राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 (एनएफएसए) के तहत भी आते हैं और इसलिए मासिक आधार पर सब्सिडी वाला भोजन भी प्राप्त करते हैं। उन्होंने कहा कि योजना का सबसे ज्यादा लाभ महामारी के दौरान किया गया। पांडेय ने कहा, "योजना का विस्तार करने के लिए अभी तक कोई प्रस्ताव नहीं आया है।"

बता दें कि  प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना मार्च 2020 में अप्रैल-जून 2020 तक के लिए लॉन्च की गई थी। लेकिन इसे 30 नवंबर 2021 तक बढ़ा दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.