Saturday, December 3

सेक्स रैकेट स्पा की आड़ में! ‘सर्विस रेट’ का स्क्रीनशॉट दिखा दिल्ली महिला आयोग ने जस्ट डायल को किया तलब

सेक्स रैकेट स्पा की आड़ में! ‘सर्विस रेट’ का स्क्रीनशॉट दिखा दिल्ली महिला आयोग ने जस्ट डायल को किया तलब


नई दिल्ली 
दिल्ली के स्पा में चलाए जा रहे सेक्स रैकेट के खिलाफ कई शिकायतों की जांच करने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने लोकल सर्च इंजन जस्ट डायल को तलब किया है और दिल्ली पुलिस से एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। आयोग का कहना है कि शिकायतों की जांच के लिए उसने जांच टीम बनाई, जिसे जांच में सबूत मिले है कि स्पा की आड़ में सेक्स रैकेट चल रहे हैं और इंटरनेट कंपनी- जस्ट डायल इन्हें प्रमोट कर रहा है। आयोग का कहना है कि उसकी जांच टीम ने दिल्ली में संचालित स्पा की 'जस्टडायल डॉट कॉम' पर इंक्वायरी की तो 24 घंटों के भीतर ही टीम को 15 से अधिक कॉल और 32 वॉट्सऐप मिले, जिसमें 150 से अधिक लड़कियों की तस्वीरें और उनके 'सर्विस रेट' बताए गए। इन वॉट्सऐप मैसेज के स्क्रीनशॉट दिल्ली महिला आयोग ने साझा किए हैं।

दिल्ली महिला आयोग ने जस्ट डायल लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर को 12 नवंबर दिन के 2 बजे तलब किया है। वहीं, जॉइंट पुलिस कमिश्नर- क्राइम, दिल्ली पुलिस को दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन ने नोटिस जारी कर 12 नवंबर तक इस मामले में दर्ज एफआईआर की कॉपी, उन स्पा के खिलाफ एक्शन की जानकारी और विस्तृत जांच रिपोर्ट मांगी है, जिनसे आयोग की टीम को मेसेज मिले थे। आयोग का कहना है कि जांच टीम ने जब स्पा सर्विस की जानकारी का अनुरोध किया तो जिस्मफरोशी के धंधा का पर्दाफाश हुआ। टीम को कई स्पा की ओर से भारतीय और विदेशी लड़कियों की सेक्स सर्विस के लिए कई मेसेज मिले। इन मैसेज के साथ रेट और कई युवा लड़कियों की तस्वीरें भी थीं। आयोग ने जस्ट डायल पर रजिस्टर्ड सभी स्पा की लिस्ट और उनके रजिस्ट्रेशन में लागू करे जा रहे मानकों की जानकारी मांगा है। आयोग ने कंपनी से खासतौर पर उन स्पा की जानकारी मांगी हैं, जिन्होंने आयोग की टीम को सेक्स सर्विस के मेसेज भेजे। आयोग ने यह भी पूछा है कि कंपनी अपनी साइट पर लिस्टिंग के लिए कितनी राशि लेती है। मामले की गंभीरता को देखते हुए आयोग ने दिल्ली क्राइम ब्रांच से 12 नवंबर तक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने कहा, राजधानी में जिस तरह से ये गोरखधंधा चल रहा हैं, वह चौंकाने वाला है और पता नहीं ऐसे कितने ओर गिरोह छुपे बैठे हैं। हमने मामले में उनकी भूमिका की जांच के लिए जस्ट डायल को तलब किया है। दिल्ली पुलिस को तुरंत प्राथमिकी दर्ज करने और इसमें शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार करने के लिए एक नोटिस भी जारी किया। इस मामले में जल्द से जल्द सख्त करवाई होना बेहद जरूरी है। आयोग जिस्मफरोशी के खिलाफ अपनी लड़ाई पूरी ताकत के साथ इसी तरह जारी रखेगा।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.