Saturday, December 3

बीस वर्ष साथ रहने के बाद शिवनाथ-शिवराम चल बसे

बीस वर्ष साथ रहने के बाद शिवनाथ-शिवराम चल बसे


बलौदाबाजार। जिले के खैन्दा गाव निवासी दो जुड़वा भाईयों शिवनाथ-शिवराम की अनोखी जोड़ी ने शनिवार देर रात अंतिम सास ली। अचानक तबीयत बिगड़ जाने की वजह से दोनों की मौत हो गई, लेकिन आशंका व्यक्त की जा रही है कि दोनो ने जहर का सेवन किया। संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की वजह से पुलिस भी इस घटना की जांच कर रही है।
शिवराम और शिवनाथ के घरवालों ने बताया कि बीती रात इन भाइयों को तेज बुखार आया था। सुबह जब घरवाले इनके कमरे में पहुंचे तो दोनों की मौत हो चुकी थी। गांव में दोनों भाइयों द्वारा आत्महत्या किये जाने से सभी शोकविहल हो गये। 20 वर्षीय दोनो भाई परिवार वालो के साथ ही ग्रामीणो के चहेते थे। दिसंबर 2001 में जन्मे शिवनाथ और शिवराम शरीर से जुड़े हुए थे। इनके दो धड़, दो सिर, चार हाथ और दो पैर थे। एक साथ ही शिवराम और शिवनाथ अपने सारे काम किया करते थे। चाहे स्कूटर चलाना हो, नहाना हो, स्कूल जाना हो। दोनों का जुड़ा हुआ शरीर एक साथ काम करता था।
इस वजह से इन्हें दो जिस्म एक जान के नाम पर भी देश और दुनिया में जाना जाता रहा है। मानव शरीर की अनोखी संरचनाओं पर रिसर्च करने वाली कई विदेशी टीमें भी बलौदाबाजार आकर शिवनाथ और शिवराम से मुलाकात कर चुकी थीं। दोनों मुस्कुराकर लोगों से मिला करते थे अब अचानक इनकी मौत ने खैंदा गांव मे उदासी का महौल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.