Saturday, December 3

साउथ अफ्रीका 10 रन से जीता, इंग्लैंड हारकर भी सेमीफाइनल में

साउथ अफ्रीका 10 रन से जीता, इंग्लैंड हारकर भी सेमीफाइनल में


शारजाह
रासी वान डर डुसन और एडेन मार्करम की तेजतर्रार पारियों के बाद कगिसो रबाडा की हैटट्रिक के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने अपने अंतिम लीग मैच में इंग्लैंड को 10 रन से हरा दिया। इस जीत के बावजूद साउथ अफ्रीकी टीम आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 से बाहर हो गई। ग्रुप 1 से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीमें सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं जबकि साउथ अफ्रीका सेमीफाइनल से बाहर हो गया। इंग्लैंड ने सुपर 12 में 5 में से 4 मैच जीतकर 8 अंकों के साथ अपने ग्रुप में टॉप पर रहते हुए अंतिम 4 का टिकट टकाया। इंग्लैंड का नेट रनरेट 2.464 था। ऑस्ट्रेलिया ने 5 मैचों में से 4 में जीत दर्ज कर 8 अंक लेकर सेमीफाइनल में एंट्री मारी। साउथ अफ्रीका के भी 5 मैचों में 8 रहे लेकिन नेट रनरेट में वह ऑस्ट्रेलिया से पिछड़ गया। ऑस्ट्रेलिया का नेट रनरेट 1.216 रहा वहीं साउथ अफ्रीका का नेट रन रेट 0.739 था।

रबाडा ने कुछ यूं पूरी की हैटट्रिक
साउथ अफ्रीका की इस जीत के असल हीरो कागिसो रबाडा (Kagiso Rabada Hat-trick) थे। आखिरी ओवर में इंग्लैंड को जीत के लिए 14 रन की जरूरत थी। क्रीज पर क्रिस वोक्स और इयोन मोर्गन मौजूद थे। मगर कागिसो रबाडा ने खेल पलट दिया। शुरुआती तीन गेंदों में लगातार तीन विकेट चटकाए। यह इस टी-20 वर्ल्ड कप की तीसरी हैट्रिक थी। पहली गेंद पर क्रिस वोक्स, दूसरी बॉल पर कप्तान मोर्गन और तीसरे गेंद पर क्रिस जॉर्डन का शिकार किया। तीनों विकेट कैच आउट हुए।

दक्षिण अफ्रीका ने 190 रन का लक्ष्य रखा था
दक्षिण अफ्रीका ने इंग्लैंड के सामने 190 रन का लक्ष्य रखा था। प्रोटियाज टीम को इंग्लैंड को 131 रन के भीतर रोकना था लेकिन वह इसमें सफल नहीं रही। इंग्लैंड की टीम 20 ओवर में 8 विकेट पर 179 रन ही बना सकी। प्रोटियाज टीम की ओर से रासी वान डर डुसन ने सबसे अधिक नाबाद 94 रन की पारी खेली जबकि एडेन मार्करम ने नाबाद 52 रन की पारी खेली।

डुसन ने करियर का बेस्ट स्कोर बनाया
इससे पहले रॉसी वान डर डुसन (Rassie van der Dussen ) के करियर के सर्वोच्च स्कोर और एडेन मार्करम () के तूफानी अर्धशतक की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने 2 विकेट पर 189 रन का मजबूत स्कोर बनाया। डुसन ने 60 गेंदों पर नाबाद 94 रन बनाए जिसमें पांच चौके और छह छक्के शामिल हैं। यह टी20 विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका की तरफ से सर्वोच्च स्कोर है। उन्होंने क्विंटन डिकॉक (27 गेंदों पर 34) के साथ दूसरे विकेट के लिए 71 और मार्कराम (25 गेंदों पर नाबाद 52, दो चौके, चार छक्के) के साथ तीसरे विकेट के लिए 52 गेंदों पर 103 रन की अटूट साझेदारी की।

दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी पांच ओवरों में 71 रन बनाए
दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी पांच ओवरों में 71 रन बनाए। टूर्नामेंट में पहली बार इंग्लैंड के गेंदबाज दबाव में दिखे। उसकी तरफ से दोनों स्पिनर मोईन अली और आदिल राशिद को ही सफलता मिली। दक्षिण अफ्रीका ने डुसन के क्रिस वोक्स के छठे ओवर में लगाए गए चौके और छक्के की मदद से पावरप्ले में एक विकेट पर 40 रन बनाए। इससे पहले मोईन (27/1) ने अपनी गति में बदलाव करके रीजा हेंड्रिक्स (दो) को बोल्ड किया था जिनका स्थान लेने के लिये डुसन क्रीज पर उतरे थे। डुसेन और डिकॉक ने इसके बाद स्ट्राइक रोटेट करने की सकारात्मक रणनीति अपनाई और इस बीच ढीली गेंदों को सीमा रेखा तक भी पहुंचाया। डुसन का मार्क वुड पर स्कूप करके विकेटकीपर के सिर के ऊपर से लगाया गया छक्का दर्शनीय था लेकिन डिकॉक लेग स्पिनर राशिद (32/1) पर लंबा शॉट खेलने के प्रयास में लांग ऑन पर कैच दे बैठे।

डुसन ने 37 गेंदों पर जड़ा अर्धशतक
डुसन ने 37 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने वुड पर डीप स्क्वायर लेग पर छक्का लगाकर टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया जबकि मार्करम ने राशिद की गेंद छह रन के लिए भेजकर गेंदबाजों को दबाव में ला दिया। डेथ ओवरों के लिए मंच सज चुका था। इसका पहला निशाना वोक्स बने। पारी के 16वें ओवर में डुसन ने उनकी पहली दो गेंदों और मार्कराम ने पांचवीं गेंद को छक्के के लिए भेजकर स्कोर बोर्ड की ‘स्पीड’ बढ़ा दी।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.