Tuesday, November 29

“सनराइज ओवर”किताबों को जला देना चाहिए-जयभान सिंह पवैया

“सनराइज ओवर”किताबों को जला देना चाहिए-जयभान सिंह पवैया


ग्वालियर
 कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद  की किताब “सनराइज ओवर”  में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे आतंकवादी संगठनों से किये जाने पर विवाद छिड़ गया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष जयभान सिंह पवैया  ने सलमान खुर्शीद की किताब को प्रतिबंधित करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि ऐसी किताबों को नोटिस में लेकर इन्हें जला देना चाहिए।

ग्वालियर  में जयभान सिंह पवैया ने कहा कि ये बहुत असहनीय है और देश में इस तरह के खेल की अब अनुमति देना भारत की अखंडता, भारत की समसरसता के लिए गंभीर बात है। सलमान खुर्शीद ने जो अपनी जहरीली कलम से लिखा है ऐसी किताब पर देश में तत्काल प्रतिबन्ध लगना चाहिए।

चेहरे पर आक्रोशित भाव लाते हुए पवैया ने कहा कि खुर्शीद ने राम जन्मभूमि के लिए, देश की संस्कृति के लिए लड़ने वाले बलिदानियों का उपहास किया है उस खून का मजाक किया है ऐसे खुर्शीद पर आपराधिक धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज होना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को कोर्ट की दहलीज तक खींचकर ले जाने का काम हिन्दू संगठनों को करना चाहिए, मेरा हिन्दू संगठनों से आग्रह है।

जयभान सिंह पवैया ने कहा – ये क्या लिखेंगे राम और राम जन्म भूमि पर, एक विदेशी महिला को अपना सेनापति मानने वाले, देश तोड़क सोच वाले लोग, टुकड़े टुकड़े गैंग का समर्थन करने वाले लोग, कश्मीर का भारत में विलय रोकने और धारा 370 हटाने का विरोध  करने वाले लोग राम जन्मभूमि पर लिखने का अधिकार रखते हैं ?  उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण होते होते ये बदहवासी में है और चाहते हैं कि देश का माहौल ख़राब किया जाये, राम भक्तों को आहात किया जाये, इसलिए मेरी मांग है कि इसे नोटिस में लिया जाना चाहिए और तत्काल ऐसी किताबों को प्रतिबंधित कर देना चाहिए, जला देना चाहिए।

उधर भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malviya) ने अपने ट्विटर हैंडिल पर एक फोटो शेयर की है उस चैप्टर का नाम है “द सेफ्रन स्काई” अमित मालवीय ने ट्वीट किया – कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने अपनी नई किताब में लिखा है कि हिंदुत्व आईएसआईएस और बोको हराम जैसे जिहादी इस्लामी समूहों के समान है। हम उस व्यक्ति से और क्या उम्मीद कर सकते हैं जिसकी पार्टी ने सिर्फ इस्लामिक जिहाद के साथ समानता लाने के लिए, मुस्लिम वोट पाने के लिए, भगवा आतंकवाद शब्द गढ़ा?

Leave a Reply

Your email address will not be published.