Thursday, February 9

EOW की रेड में PWD विभाग का टाइम कीपर निकला करोड़पति, आलीशान मकान, लग्जरी गाड़ी, 8 बैंक अकाउंट

EOW की रेड में PWD विभाग का टाइम कीपर निकला करोड़पति, आलीशान मकान, लग्जरी गाड़ी, 8 बैंक अकाउंट


रीवा
मध्य प्रदेश के रीवा जिले में एक टाइमकीपर के ठिकानों पर  ईओडब्ल्यू की टीम ने दबिश दी. हनुमना तहसील क्षेत्र के माढ़ा गांव में लोक निर्माण विभाग में समय पाल के पद पर पदस्थ पन्नालाल शुक्ला के घर में छापामार कार्रवाई की गई. रेड के दौरान टीम ने कई जरूरी दस्तावेज खंगाले. बताया जा रहा है कि पीडब्ल्यूडी का टाइम कीपर पन्नालाल शुक्ला ईओडब्ल्यू की दबिश में डेढ़ करोड़ रुपए का आसामी निकला है, जिसके नाम कई जमीन के कागजात बरामद किए गए हैं.  8  बैंक खाते, गाड़ियां और प्रॉपर्टी के रिकॉर्ड भी मिले हैं.

रीवा जिले के हनुमना तहसील क्षेत्र अंतर्गत माढा गांव में उस वक़्त हड़कंप मच गया जब पीडब्ल्यूडी के टाइम कीपर पन्नालाल शुक्ला के घर में ईओडब्लू की टीम ने दबिश दी. इसके बाद कार्रवाई करते हुए ईओडब्ल्यू टीम के द्वारा पन्नालाल शुक्ला के घर से कई जरूरी दस्तावेज खंगाले गए जिस में खुलासा हुआ कि पन्नालाल शुक्ला डेढ़ करोड़ रुपए का आसामी है.

ईओडब्ल्यू ने खंगाले कई दस्तावेज
ईओडब्ल्यू टीम की कार्रवाई में टाइम कीपर पन्नालाल शुक्ला के घर पर दबिश देते हुए आठ अलग-अलग स्थानों में जमीन के दस्तावेज बरामद किए. इसके अलावा फोर व्हीलर वाहन सहित टू व्हीलर वाहन को मिलाकर पन्नालाल शुक्ला की कुल संपत्ति तकरीबन डेढ़ करोड़ रुपए आंकी गई है.

बताया जा रहा है कि ईओडब्ल्यू की टीम द्वारा आय से अधिक संपत्ति की शिकायत पर मऊगंज तहसील में लोक निर्माण विभाग कार्यालय में टाइम कीपर के पद पर पदस्थ पन्नालाल शुक्ला के घर में दबिश दी गई. जहां से अब तक तकरीबन डेढ़ करोड़ रुपए की बेनामी संपत्ति उजागर हुई है.

शिकायत के बाद कार्रवाई
दरअसल, आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ की टीम ने लोक निर्माण विभाग के टाइम कीपर पन्नालाल शुक्ला के घर पर छापा मारा. टाइम कीपर के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार को लेकर कई बार शिकायत आ चुकी थी. जांच में शिकायत सही पाई गई. इस बाद ईओडब्लू ने पूरी प्लानिंग के साथ दबिश दी. छापेमारी में अधिकारियों को टाइमकीपर के पास दो मंजिला मकान, 8 बैंक खाते, बीमा पॉलिसी, बोलेरो गाड़ी, मोटर साइकिल, कई प्लाट, जमीन के दस्तावेज मिले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.