Saturday, February 4

करीब 65 करोड़ की लागत से पटना जंक्शन पहुंचने के लिए बनेगा अंडरग्राउंड रास्ता

करीब 65 करोड़ की लागत से पटना जंक्शन पहुंचने के लिए बनेगा अंडरग्राउंड रास्ता


पटना
ट्रेन पकड़ने के लिए पटना जंक्शन पहुंचनेवाले लोगों को जाम से मुक्ति के लिए अंडरग्राउंड रास्ता बनेगा. बुद्ध स्मृति मल्टी पार्किंग से पटना जंक्शन तक अंडरग्राउंड रास्ता तैयार होगा. बिहार राज्य पुल निर्माण निगम की देखरेख में इसका निर्माण होना है. जानकारों के अनुसार इसके निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. छठ पूजा के बाद निगम बोर्ड की होनेवाली बैठक में टेंडर प्रोसेस पर निर्णय लिये जाने की संभावना है.

निगम के आधिकारिक सूत्र ने बताया कि बुद्ध स्मृति मल्टी पार्किंग के पास बनी सड़क के नीचे से खुदाई शुरू कर नीचे ही नीचे पटना जंक्शन परिसर (पुराने दूध मार्केट) तक बनेगा. इपीसी मोड में बननेवाला अंडरग्राउंड रास्ता 410 मीटर लंबा होगा. इसके निर्माण पर लगभग 65 करोड़ खर्च होंगे.

पुल निर्माण निगम के सूत्र ने बताया कि बुद्ध स्मृति मल्टी पार्किंग से पटना जंक्शन तक अंडरग्राउंड रास्ता स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत बनेगा. इसके निर्माण के लिए नगर विकास व आवास विभाग से सहमति मिली है. अंडरग्राउंड रास्ता बनाने के लिए मल्टीपार्किंग के पास से आठ मीटर नीचे खुदाई शुरू होगी. यह रास्ता पैदल यात्रियों के लिए होगा. इसके अलावा ट्रैवलेटर भी लगाये जायेंगे. जिस पर केवल लोग खड़े होकर आगे निकल जायेंगे.

पटना जंक्शन फ्लाइओवर से बुद्ध स्मृति पार्क के ऑटो स्टैंड को जोड़ने के लिए एलिवेटेड रोड भी बनना है. ऑटो स्टैंड के तीसरे व चौथी मंजिल पर वाहनों की पार्किंग के लिए लोग सीधे पहुंच कर इसका इस्तेमाल करेंगे. साथ ही रेस्टोरेंट के बनने से लोगों को खान-पान की सुविधा मिलेगी. इसके बनने से स्टेशन पहुंचनेवाले अपने वाहन की पार्किंग कर सकेंगे. एलिवेटेड रोड के निर्माण में लगभग 15 करोड़ खर्च होंगे. बुद्ध मार्ग की तरफ से आनेवाले पटना जंक्शन फ्लाइओवर से सीधे ऑटो स्टैंड पहुंच जायेंगे.

बुद्ध स्मृति मल्टी पार्किंग का निर्माण वाहनों की पार्किंग के लिए होने पर भी उसका इस्तेमाल सही ढंग से नहीं हुआ. अभी भी अधिकांश ऑटो वाले बाहर में ही सवारी बैठा रहे हैं. इससे मल्टी पार्किंग में हर समय जाम की समस्या रहती है. इसके अलावा सड़क किनारे ठेला लगा कर कारोबार करने वालों ने भी सड़क का अतिक्रमण कर रखा है. ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन पहुंचनेवाले को खासकर शाम में अधिक परेशानी होती है. अंडरग्राउंड रास्ता के बनने से लोगों को आने-जाने में सुविधा होगी. बड़े महानगर में भी इस तरह की सुविधा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.