Saturday, December 3

मर्डर केस में गवाह प्रॉपर्टी डीलर के सिर पर गोली लगने से संदिग्ध हालात में मौत

मर्डर केस में गवाह प्रॉपर्टी डीलर के सिर पर गोली लगने से संदिग्ध हालात में मौत


नई दिल्ली
दिल्ली के छतरपुर इलाके में गुरुवार सुबह एक बिल्डर की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। मृतक बिल्डर की पहचान 36 वर्षीय संजीव सेजवाल के रूप में हुई है। वह अपनी महिला मित्र के घर पार्टी करने के लिए गया था, जहां उसका शव बरामद किया गया है। पुलिस ने मौके से संजीव की लाइसेंस पिस्टल भी बरामद की है। इसी पिस्तौल से उसे गोली लगी है। पुलिस को इस वारदात की सूचना संजीव की महिला मित्र ने दी थी। मैदानगढ़ी थाना पुलिस ने संजीव के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस अधिकारी का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद केस दर्ज किया जाएगा। फिलहाल, मामले में छानबीन की जा रही है। पुलिस महिला के घर में मौजूद दो भतीजों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बिल्डर संजीव सेजवाल अपने परिवार के साथ लाडो सराय इलाके में रहता था। परिवार में पत्नी के अलावा दो बच्चे भी हैं। पत्नी फिलहाल संजीव से अलग बच्चों के साथ रहती है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुरुवार सुबह 4:45 बजे पुलिस को सूचना मिली थी। इसके बाद मैदानगढ़ी थाना पुलिस मौके पर पहुंची। जहां संजीव बिस्तर के पास जमीन पर पड़ा हुआ था और उसके पास ही उसकी पिस्टल पड़ी थी। संजीव के सिर में सीधी तरफ गोली लगी थी। पुलिस ने उसके शव को कब्जे में लेकर अस्पताल भेज दिया और पिस्टल जब्त कर ली। संजीव के परिजनों को वारदात की जानकारी दी गई और पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। फिलहाल पुलिस पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है।

फोन कर पार्टी के लिए बुलाया था
पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि संजीव और उसकी महिला मित्र की बुधवार शाम को बात हुई थी। दोनों के बीच पार्टी को लेकर बात हुई और रात को संजीव छतरपुर स्थित महिला मित्र के घर पहुंचा। जहां महिला के दो भतीजे भी पहले से मौजूद थे। बताया जा रहा है यहां देर रात तक पार्टी हुई और खाना खाने के बाद संजीव और उसकी महिला मित्र सोने चले गए, जबकि दोनों भतीजे अपने घर चले गए। सुबह संजीव की महिला मित्र ने उसे बिस्तर के पास जमीन पर खून से लथपथ पड़े देखा और उसके पास ही उसकी पिस्टल भी पड़ी हुई थी। इसके बाद महिला ने मामले की सूचना पुलिस को दी।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार
मौके पर पहुंची मैदानगढ़ी थाना पुलिस ने संजीव के शव को कब्जे में लेकर छानबीन शुरू की। प्राथमिक जांच के बाद पुलिस ने महिला के दोनों भतीजों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस अधिकारी का कहना है कि महिला ने अपने बयान में बताया है कि संजीव ने आत्महत्या की है, लेकिन परिजनों ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है, जिससे यह पता चल सके कि संजीव किसी बात को लेकर परेशान था। इसके साथ ही मौके से कोई सुसाइड नोट भी बरामद नहीं हुआ है। ऐसे में पुलिस संजीव की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस सुरक्षा मिली थी
पुलिस अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2017 में संजीव के ताऊ के लड़के की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में संजीव गवाह है और कोर्ट के आदेश पर उसे सुरक्षा मुहैया करवाई गई थी। संजीव पर एक आपराधिक केस भी दर्ज है और उस पर पहले भी कई बार हमले हो चुके थे। कई जमीन के मामलों में उसका विवाद चल रहा था। उसकी सुरक्षा में मौजूद दो पीएसओ दिन में उसके साथ रहते थे। उसे पिस्तौल का लाइसेंस भी इसी आधार पर दिया गया था। यह पीएसओ महरौली थाना पुलिस द्वारा उपलब्ध कराए थे। इसमें से गत दिनों एक पीएसओ वापस ले लिया गया था। जो पीएसओ संजीव को दिया गया था, वह केवल दिन में उसके साथ रहता था। यही वजह है कि संजीव की मौत जब हुई तो उसके साथ पीएसओ नहीं थे।  
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.