Wednesday, December 7

योगी आदित्यनाथ बोले – कैराना में पलायन और अफगानिस्तान में तालिबान रिटर्न्स पर जश्न… बर्दाश्त नहीं करेंगे ऐसे लोग

योगी आदित्यनाथ बोले – कैराना में पलायन और अफगानिस्तान में तालिबान रिटर्न्स पर जश्न… बर्दाश्त नहीं करेंगे ऐसे लोग


कैराना
यूपी में चुनावी मौसम और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कैराना दौरा। यह महज संयोग है या विपक्ष की चाल को कुंद करने की बीजेपी की कोई रणनीति। जब कैराना योगी पहुंचे तो उन्होंने उन लोगों के दर्द पर मरहम लगाया, जिन्होंने कभी दंगों का दंश झेला था। इस दौरान उन्होंने विपक्ष खासकर समाजवादी पार्टी को निशाने पर लेने में कोई कोताही नहीं बरती। योगी ने कहा, उत्पीड़न के शिकार हुए लोगों को हम मुआवजा देंगे। जिन भी लोगों ने यहां पर कैराना का उजाड़ने का प्रयास किया है, मारीच और सुबाहु की तरह उनकी दुर्गति हुई है। मारीच और सुबहू की तरह दुर्गति का शिकार होंगे आने वाले समय में। यह विश्वामित्र का यज्ञ है।

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू
अब अयोध्या में राम के भव्य मंदिर का कार्य भी प्रारंभ हो चुका है। अब किसी को संदेह रहना ही नहीं चाहिए। भव्य मंदिर का काम आयोध्या में चल रहा है। जो लोग अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर नहीं चाहते थे। सीएम ने कहा, जो लोग कश्मीर में धारा-370 को समाप्त करने का विरोध करते थे, ये लोग कब खुश होते हैं…जब मुजफ्फर नगर में दंगा होता है… जब कैराना से पलायन होता है… और जब अफगानिस्तान में तालिबान का शासन होता है, तब इनके नारे लगते हैं… लेकिन तालिबानीकरण हम कतई स्वीकार नहीं होने देंगे। और जो भी तालिबान का समर्थन उत्तर प्रदेश की धरती पर करेगा, सख्ती के साथ उससे निपटने का काम सरकार करेगी। एक तालिबानी मानसिकता नहीं स्वीकार होनी चाहिए। कतई नहीं होनी चाहिए।

तालिबानी मानसिकता को कतई स्वीकार नहीं करेंगे'
यह मध्ययुग में समाज को ले जाने की कुत्सित चेष्टा है। जो बहन और बेटियों के जीवन को पूरी तरह से नारकीय बनाता है। नागरिकों के मौलिक अधिकारों का हनन करते है। जो केवल और केवल मजहबी जुनून के साथ जीते हैं, वे लोग इस तालिबानी कुकृत्यों को समर्थन कर रहे है। उत्तर प्रदेश की धरती पर इसे कतई स्वीकार नहीं किया जाएगा।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.