Monday, April 15

अहोई अष्टमी से रमा एकादशी तक, 26 अक्टूबर से 1 नवंबर तक के बीच आएंगे ये व्रत-त्योहार

अहोई अष्टमी से रमा एकादशी तक, 26 अक्टूबर से 1 नवंबर तक के बीच आएंगे ये व्रत-त्योहार


 नई दिल्ली 
26 अक्तूबर (मंगलवार): कार्त्तिक कृष्ण पंचमी प्रात: 8.25 बजे तक उपरांत षष्ठी। स्कंद षष्ठी व्रत। पंचमी तिथि की वृद्धि।

27 अक्तूबर (बुधवार): कार्त्तिक कृष्ण षष्ठी प्रात: 10.51 बजे तक उपरांत सप्तमी। भद्रा प्रात: 10.51 बजे से रात्रि 11.51 बजे तक।

28 अक्तूबर (गुरुवार) : कार्त्तिक कृष्ण सप्तमीमध्याह्न 12.50 बजे तक उपरांत अष्टमी। अहोई अष्टमी व्रत (चंद्रोदय व्यापिनी)।

29 अक्तूबर (शुक्रवार) : कार्त्तिक कृष्ण अष्टमी मध्याह्न 2.10 बजे तक तदनंतर नवमी। राधाष्टमी (मथुरा)। राधाकुंड स्नान।

30 अक्तूबर (शनिवार) : कार्त्तिक कृष्ण नवमी मध्याह्न 2.44 बजे तक तदनंतर दशमी। श्री गुरु हरकिशन गुरुयायी।

31 अक्तूबर (रविवार) : कार्त्तिक कृष्ण दशमी मध्याह्न 2.28 बजे तक पश्चात एकादशी।

1 नवंबर (सोमवार) : कार्त्तिक कृष्ण एकादशी मध्याह्न 1.22 बजे तक उपरांत द्वादशी। रम्भा एकादशी व्रत सबका। आज आकाश में दीप दान करना चाहिए। गोवत्स पूजा। गोवत्स द्वादशी (प्रदोष व्यापिनी द्वादशी में)। नारीकर्त्तक नीरांजन विधि पांच दिन तक। वसु द्वादशी। कौमुदी महोत्सव प्रारम्भ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *