Saturday, December 3

आरपी ने धोनी को निष्पक्ष कप्तान बताया

आरपी ने धोनी को निष्पक्ष कप्तान बताया


मुम्बई । भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने साल 2008 में हुए चयन विवाद पर कहा कि पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी निष्पक्ष विचारों के रहे हैं। आरपी ने कहा कि धोनी जो भी है, वह अपने निष्पक्ष विचारों के कारण ही हैं। इस चयन विवाद में आरपी की जगह टीम में ऑलराउंडर इरफान पठान को जगह मिली थी। वहीं एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2008 में इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के लिए धोनी चाहते थे कि टीम में आर.पी. का चयन हो पर चयनकर्ताओं ने उनकी जगह पठान को वरीयता दी। वहीं आरपी ने कहा कि उन्हें टीम से बाहर होने से कोई शिकायत नहीं है। उन्होंने कहा कि धोनी एक निष्पक्ष कप्तान थे और उनकी दोस्ती ने टीम के फैसलों को कभी प्रभावित नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘‘हम इस बारे में चर्चा कर रहे थे कि मैं कहां सुधार कर सकता हूं। मैं बेहतर होने के लिए क्या कर सकता हूं। मैं धोनी को जानता हूं। मित्रता एक अलग चीज है, लेकिन देश का नेतृत्व करना पूरी तरह से अलग है। मुझे लगता था कि उस समय उन्होंने उनको आगे किया जो उन्हें लगा कि बेहतर हैं और रणनीति पर बेहतर अमल कर सकते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे लगता है धोनी ने ऐसे खिलाड़ियों का साथ दिया जिसके बारे में वह समझते थे कि उनकी योजना को मैदान में बेहतर तरीके से उतार सकता है’’उन्होंने कहा, ‘‘ धोनी आज धोनी इस लिए है क्योंकि वह अपने फैसले को लेकर निष्पक्ष थे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.