Thursday, June 13

कोरोना से जंग: पल्स पोलियो की तर्ज पर कोरोना टीकाकरण अभियान, घरों पर लगाया जाएगा निशान

कोरोना से जंग: पल्स पोलियो की तर्ज पर कोरोना टीकाकरण अभियान, घरों पर लगाया जाएगा निशान


मुजफ्फरपुर
राज्य में पल्स पोलियो अभियान के तर्ज पर कोरोना टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। कोरोना टीका नहीं लेने वालों के घर पर क्रॉस का निशान लगाया जायेगा स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को सभी सिविल सर्जन और डीआईओ के साथ बैठक में यह फैसला लिया। पोलियो अभियान की तर्ज पर कोरोना टीका अभियान जिले और पूरे राज्य में चलाया जायेगा। 16 से 27 नवंबर तक सभी जिलों को शत-प्रतिशत कोरोना टीका की पहला डोज देने का निर्देश दिया गया। 28 नवंबर को सभी जिलों को यह सर्टिफिकेट देना है कि उनके यहां अब पहली डोज लेने वालों में कोई नहीं बचा है।

अपर मुख्य सचिव का निर्देश

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने शुक्रवार शाम पांच बजे ऑनलाइन बैठक की। इसमें तय किया गया कि कोरोना टीकाकरण अभियान पल्स पोलियो की तर्ज पर चलाया जाये। सिविल सर्जन डॉ. विनय कुमार शर्मा ने बताया कि जिन लोगों ने कोरोना टीका नहीं लिया है, उनके घर पर क्रॉस का मार्क लगया जायेगा। जिन लोगों ने पहली डोज ली, उनके यहां सी वन पी और दूसरी डोज लेने वाले के यहां सी टू पी लिखा जायेगा।

घर-घर जायेगी टीकाकरण टीम

सिविल सर्जन ने बताया कि कोरोना टीकाकरण के लिए टीम घर-घर जायेगी। सीएस ने बताया कि हर हाल में 27 नवंबर तक टीके की पहली डोज सभी लोगों दे देनी है।

आज गर्भवती महिलाओं को पड़ेगा टीका

मातृ सुरक्षा दिवस पर शनिवार को सदर अस्पताल में गर्भवती महिलाओं को कोरोना का टीका दिया जायेगा। इसके लिए शुक्रवार को पूरी तैयारी की गयी। अस्पताल प्रबंधक विपिन पाठक ने बताया कि सदर अस्पताल के मातृ शिशु सदन में गर्भवती महिलाओं को टीका दिया जायेगा। सुबह नौ बजे से टीकाकरण शुरू होगा।

तीन प्रखंडों में आधे से भी कम लोगों को लगा टीका

जिले के तीन प्रखंडों में आधे से भी कम लोगों को कोरोना टीका लगा है। इन प्रखंडों में कटरा, औराई और मोतीपुर शामिल हैं। यहां 49 प्रतिशत ही टीकाकरण हुआ है। कम टीकाकरण पर शुक्रवार को सिविल सर्जन डॉ. विनय कुमार शर्मा ने सभी पीएचसी प्रभारी और स्वास्थ्य प्रबंधकों को शोकॉज किया है। सीएस ने बताया कि स्पष्टीकरण का सही जवाब नहीं आया तो स्वास्थ्य प्रबंधकों को हटा दिया जायेगा और प्रभारी चिकित्सा पदाधिाकरियों पर प्रपत्र क गठित करने की कार्रवाई होगी।

सूत्रों के अनुसार इन तीनों प्रखंडों ने टीकाकरण के बाद रिपोर्ट दी थी कि उनके यहां पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। जिन लोगों को टीका नहीं लगा है, वे गांव से बाहर रहते हैं। इस पर विभाग ने ऐसे गावों में टीम भेजने का निर्णय लिया है। टीम जाकर पता करेगी कि प्रखंडों से आयी रिपोर्ट सही है या गलत। इसके अलावा कुढ़नी, साहेबगंज और मुशहरी पीएचसी प्रभारियों को टीकाकरण की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण को तीन भागों में बांटा है। एक श्रेणी 50 प्रतिशत से कम की है। दूसरी श्रेणी 50 से 60 प्रतिशत वालों की है और तीसरी 60 प्रतिशत से ऊपर वाले प्रखंडों की है।

घर पर ही होगा टीका के लिए रजिस्ट्रेशन

टीकाकरण के लिए घर-घर जाने वाली टीम वहीं रजिस्ट्रेशन कर देगी। सीएस ने बताया कि आधार कार्ड देखकर हाथों हाथ रजिस्ट्रेशन किया जायेगा और उसके बाद कोरोना का टीका दिया जायेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद लोगों को मोबाइल पर मैसेज भी पहुंच जायेगा।

जिले में 14 लाख को देना है अभी पहली डोज

मुजफ्फरपुर में अभी 14 लाख 14 हजार लोगों को कोरोना टीका की पहली डोज देनी है। जिले में कोरोना टीका का लक्ष्य 37 लाख है, जिसमें 22 लाख 85 हजार 949 लोगों को पहली व सात लाख 99 हजार 792 लोगों को दूसरी डोज लगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *