Friday, February 23

चित्रकूट में 5 लाख का इनामी डकैत गौरी यादव का एनकाउंटर, सैकड़ों राउंड चलीं गोलियां, एके-47 बरामद

चित्रकूट में 5 लाख का इनामी डकैत गौरी यादव का एनकाउंटर, सैकड़ों राउंड चलीं गोलियां, एके-47 बरामद


 चित्रकूट 
यूपी और एमपी पुलिस के लिए सिर दर्द बने साढ़े पांच लाख के इनामी डकैत गौरी यादव को यूपी एसटीएफ ने शुक्रवार आधी रात के बाद मुठभेड़ में मार गिराया। सटीक सूचना पर पहुंची यूपी एसटीएफ की टीम से चित्रकूट में बाहिलपुरवा थाना क्षेत्र के माधा के पास जंगल में गिरोह से मुठभेड़ हुई जिसमें कुख्यात गौरी यादव मारा गया।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार दोनों तरफ से सैकड़ों राउंड गोलियां चलीं, गिरोह के और सदस्य जंगल की तरफ भाग निकले लेकिन गौरी को कई गोलियां लगीं जिसमें वह मारा गया। यूपी एसटीएफ को मौके से एक एके-47 रायफल, एक क्लाशनिकोव सेमी ऑटोमैटिक राइफल, एक 12 बोर बंदूक और सैकड़ों कारतूस मिले हैं। गौरी यादव पर यूपी से पांच लाख और एमपी से 50 हजार का इनाम घोषित था। गिरोह को और सदस्यों को पकड़ने के लिए पुलिस अफसरों के साथ कई थानों की पुलिस और एसटीएफ की टीमें जंगल में कांबिंग कर रही हैं।

बाहिलपुरवा थाने के माड़व बाग गांव का रहने वाला गौरी यादव कुख्यात डकैत ददुआ के पिट्टू के तौर पर जंगल में उतरा था। ददुआ के मारे जाने के बाद वह डकैत बबुली गिरोह में शामिल हो गया। पुलिस ने बबुली को मारने के लिए इसको उस समय बढ़ावा दिया और इसकी मदद से बबुली को मारा। बबुली के मारे जाने के बाद उसी गिरोह के कुछ सदस्यों के साथ करीब 10 साल पहले गौरी ने अपना गिरोह बना लिया और खुद सरगना बन गया। इसके बाद से वह दोनों प्रदेशों की पुलिस के लिए सिर दर्द बना था। दोनों प्रदेशों की पुलिस गौरी की तलाश में न जाने कितने अभियान चला चुकी थीं लेकिन हर बार वह बच निकलता था। चित्रकूट के एसपी धवल जायसवाल ने बताया कि शुक्रवार देर रात मिली सूचना के बाद से गिरोह की घेराबंदी की जा रही थी, रात बीतते-बीतते गिरोह को एसटीएफ और पुलिस की टीम ने घेर लिया और मुठभेड़ में गौरी मारा गया।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *