Monday, April 15

‘तुम्‍हारे पति को मार दिया जाएगा’, बंगाल में पूर्व मुख्य सचिव की पत्नी को धमकी 

‘तुम्‍हारे पति को मार दिया जाएगा’, बंगाल में पूर्व मुख्य सचिव की पत्नी को धमकी 


कोलकाता
पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय, जो वर्तमान में मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार के रूप में कार्यरत हैं, को जान से मारने की धमकी दी गई है। यह धमकी उनकी पत्नी को भेजे गए एक पत्र के माध्यम से दी गई। उनकी पत्नी सोनाली चक्रवर्ती हैं, जो कि कलकत्ता विश्वविद्यालय की कुलपति हैं, उन्‍हें धमकी भरा पत्र मिला। जिसमें अलपन बंद्योपाध्याय को जान से मारने की धमकी दी गई। पत्र में लिखा था, "मैडम, आपके पति को मार दिया जाएगा और आपके पति की जान कोई नहीं बचा सकता।" बहरहाल, इस मामले में कोलकाता पुलिस के समक्ष शिकायत दर्ज कर ली गई है और आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है। 

वहीं, अलपन बंद्योपाध्याय ने कहा कि, मेरी पत्‍नी को जो धमकी भरा पत्र मिला, वो पुलिस को दे दिया गया है। वैसे, बंद्योपाध्याय खुद शांत राजनीतिक व्‍यक्तित्‍व वाले रहे हैं और ज्यादा नहीं बोलने के लिए जाने जाते हैं। वह पश्चिम बंगाल कैडर के 1987 बैच के आईएएस अधिकारी हैं, जो मुख्य सचिव के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान चर्चा में आए। ऐसा माना जाता है कि, अलपन बंद्योपाध्याय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्रियों की कोविड-19 समीक्षा बैठकों के दौरान केंद्र और टीएमसी सरकार के बीच की कड़ी थे।

एक अच्छे वक्ता के रूप में जाने जाने वाले बंद्योपाध्याय का राजनीतिक स्पेक्ट्रम के दोनों ओर सम्मान किया जाता था। भले ही टीएमसी सरकार का राज्यपाल के साथ झगड़ा चल रहा हो, लेकिन जगदीप धनखड़ के उनके साथ अच्छे व्यक्तिगत संबंध हैं। अलपन बंद्योपाध्याय बंगाल में कोविड-19 से निपटने की लड़ाई का चेहरा रहे हैं। बहुतों को उनके निजी जीवन के बारे में पता नहीं है। 1961 में पैदा हुए बंद्योपाध्याय ने अपनी स्कूली शिक्षा नरेंद्रपुर रामकृष्ण मिशन में की और वह एक अच्छे छात्र थे, जिन्होंने अंतिम परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया।

 उनके दोस्‍तों के मुताबिक, अलपन बंद्योपाध्याय प्रेसीडेंसी विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र हैं, जहां उन्होंने राजनीति विज्ञान में स्नातक किया। इसके बाद उन्होंने कलकत्ता विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर किया।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *