Friday, February 3

वॉर्मअप मैचों में टीम इंडिया के धमाकेदार प्रदर्शन के बावजूद क्यों परेशान हैं विराट कोहली और मेंटोर धोनी

वॉर्मअप मैचों में टीम इंडिया के धमाकेदार प्रदर्शन के बावजूद क्यों परेशान हैं विराट कोहली और मेंटोर धोनी


 नई दिल्ली 
टी-20 विश्व कप 2021 के वॉर्मअप मैचों में टीम इंडिया ने जोरदार प्रदर्शन किया। इंग्लैंड को पटखनी देने के बाद विराट कोहली की सेना ऑस्ट्रेलिया टीम पर भी भारी पड़ी। दोनों ही मुकाबलों में टीम के बल्लेबाजों का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा। केएल राहुल, इशान किशन, रोहित शर्मा तीनों के बल्ले से वॉर्मअप मैच में रन निकले। इंग्लैंड के खिलाफ गेंदबाजों का प्रदर्शन जरूर फीका रहा, लेकिन कंगारू बल्लेबाजों को भारतीय बॉलर्स ने खूब परेशान किया। हालांकि, हार्दिक पांड्या को फॉर्म में वापसी करने का ज्यादा मौका नहीं मिला। खिलाड़ियों के दमदार प्रदर्शन ने विराट और मेंटोर धोनी के सामने कई समस्याएं खड़ी कर दी है। पाकिस्तान के खिलाफ किन ग्यारह जांबाजों को मैदान में उतरा जाए इसको लेकर अब टीम मैनेजमेंट को काफी सोच-विचार करना होगा।

कौन बने रोहित का जोड़ीदार
इंग्लैंड के खिलाफ वॉर्मअप मैच में टॉस के समय में विराट कोहली ने कह तो दिया था कि रोहित शर्मा के साथ केएल राहुल बतौर सलामी बल्लेबाज मैदान पर उतरेंगे, लेकिन उसी मुकाबले में इशान किशन ने जिस तरह से गद्दर मचाया उसने कोहली को सोचने पर जरूर मजबूर कर दिया होगा। राहुल का आईपीएल 2021 बल्ले से काफी शानदार रहा और दोनों ही वॉर्मअप मैचों में भी उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। लेकिन, विराट-माही के सामने समस्या यह है कि इशान के प्रदर्शन को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। 

कैसे बनेगी हार्दिक पांड्या की टीम में जगह
कोहली के सामने दूसरी समस्या यह है कि वॉर्मअप मैचों में हार्दिक पांड्या को ज्यादा बैटिंग करने का मौका मिला नहीं और जितनी देर वह क्रीज पर भी रहे तो कुछ खास टच में दिखाई नहीं दिए। हार्दिक गेंदबाजी कर नहीं रहे और माना जा रहा है कि वह बतौर फिनिशर टीम में खेलेंगे। ऐसे में इनको विराट-माही कैसे प्लेइंग इलेवन में फिट करेंगे। अगर हार्दिक को बतौर बल्लेबाज ही टीम में खिलाना है तो फॉर्म को देखते हुए इशान किशन उनसे ज्यादा बेहतर विकल्प दिखाई दे रहे हैं। राहुल और रोहित अगर ओपनिंग की जिम्मेदारी संभालते हैं तो इशान एक फिनिशर का रोल भी निभा सकते हैं। यानी प्लेइंग इलेवन से हार्दिक का पत्ता कटता हुआ दिखाई दे रहा है। 
 
शार्दुल या भुवनेश्वर
इंग्लैंड के खिलाफ भुवनेश्वर कुमार ने दिल खोलकर रन लुटाए थे और अपने चार ओवर में 54 रन दिए थे। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस तेज गेंदबाज ने जबरदस्त कमबैक किया और अपने चार ओवर में महज 27 रन देकर स्टीव स्मिथ का विकेट भी अपने नाम किया। वहीं, दूसरी तरफ से शार्दुल भले ही कंगारू टीम के खिलाफ गेंद से कुछ खास नहीं कर सके हों, पर उनकी हालिया फॉर्म काफी शानदार रही है। दूसरी बात जो शार्दुल के पक्ष में जाती है कि वह बल्ले से भी कारगर साबित हो सकते हैं। आईपीएल 2021 में चेन्नई की तरफ से शार्दुल ने डेथ ओवरों में भी गेंदबाजी की थी और प्रदर्शन भी शानदार रहा था। ऐसे में विराट को सोचना होगा कि भुवी के अनुभव पर दांव लगाया जाए या फिर शार्दुल की हालिया फॉर्म को देखते हुए उनको प्लेइंग इलेवन में मौका दिया जाए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.