Friday, February 23

साउथ अफ्रीका के बाद अब नामीबिया ने स्पूतनिक-वी वैक्सीन के इस्तेमाल पर लगाई रोक 

साउथ अफ्रीका के बाद अब नामीबिया ने स्पूतनिक-वी वैक्सीन के इस्तेमाल पर लगाई रोक 


विंडहोक
नामीबिया के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि वह पड़ोसी दक्षिण अफ्रीका द्वारा उठाई गईं चिंताओं के बाद रूस निर्मित स्पुतनिक वी कोविड -19 वैक्सीन के उपयोग को बंद कर दिया है। कुछ समय पहले ही पड़ोसी देश दक्षिण अफ्रीका ने स्पूतनिक वैक्सीन को लेकर चिंता जाहिर की थी। दरअसल, यह माना जा रहा है कि स्पूतनिक-वी वैक्सीन लेने वाले पुरुषों में एचआईवी होने की आशंका कई गुना बढ़ जाती है। पड़ोसी दक्षिण अफ्रीका ने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि वह स्पुतनिक वी को मंजूरी नहीं देगा, क्योंकि, स्पूतनिक-वी वैक्सीन लेने वाले पुरुषों में एचआईवी होने की आशंका कई गुना बढ़ जाती है। स्पूतनिक-वी वैक्सीन को विकसित करने वाले जमेलिया रिसर्च इंस्टीट्यूट ने हालांकि इस फैसले पर नाखुशी जाहिर की है। इंस्टीट्यूट ने कहा है कि नामीबिया का फैसला किसी साइंटिफिक एविडेंस या रिसर्च पर आधारित नहीं है।

इसके पीछे दवा नियामक ने कहा है कि कुछ शोधों से यह पता लगता है कि स्पूतनिक-वी में एडेनोवायरस टाइप 5 वेक्टर है, जिसके इस्तेमाल से पुरुषों में एचाईवी होने की आशंका कई गुना तक बढ़ जाती है। माना जा रहा है ये सांस के संक्रमण का कारण बनता है। आर्यन ड्रग्स केस: नवाब मलिक का आरोप- NCB ने 1 साल में फिल्म जगत से की करोड़ों की 'वसूली' दवा नियामक ने कहा है कि कुछ शोधों से यह पता चला है कि स्पूतनिक-वी में एडेनोवायरस टाइप 5 वेक्टर है, जिसके इस्तेमाल से पुरुषों में एचाईवी होने की आशंका बढ़ जाती है। नामीबिया के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि जब तक कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इसे आपातकालीन उपयोग के लिए इजाजत नहीं मिल जाती है। मालूम हो कि भारत में भी स्पूतनिक-वी वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई थी। हालांकि, अभी तक ऐसी कोई आशंका सामने नहीं आई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *