Saturday, April 20

हर 3 में से 1 व्यक्ति को होती है ‘मोशन सिकनेस’

हर 3 में से 1 व्यक्ति को होती है ‘मोशन सिकनेस’


मोशन सिकनेस की समस्या काफी आम है। आपकी पहचान में भी ऐसे कई लोग होंगे जिन्हें सफर करते समय उल्टी और जी मचलाने जैसी परेशानियां होती हैं। वैसे तो मोशन सिकनेस होना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन जरूरी काम या मूड तरोताजा करने के बीच ये हमारे दिमाग को विचलित कर सकता है।

मोशन सिकनेस कोई बीमारी नहीं है। कुछ लोगों को सफर के दौरान ये परेशानी इसलिए होती है क्योंकि ऐसे समय उनके दिमाग को नाक, कान, त्वचा और आंख से अलग-अलग सिग्नल मिलते हैं। वैज्ञानिकों का मानना है कि ये सिग्नल मिलते ही उनका नर्वस सिस्टम कंफ्यूज हो जाता है। इससे दिमाग तत्काल स्थिति समझ नहीं पाता, जिसके चलते मोशन सिकनेस के लक्षण आने लगते हैं। मोशन सिकनेस होना काफी सामान्य है। ये बस, ट्रेन, कार से लेकर फ्लाइट और शिप में सफर करते वक्त भी हो सकता है। अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ हेल्थ के मुताबिक, हर 3 में से 1 व्यक्ति को मोशन सिकनेस की परेशानी हो सकती है। महिलाओं को पुरुषों की तुलना में यह समस्या ज्यादा होती है। यह अधिकतर प्रेग्नेंसी और पीरियड्स के दौरान होता है। जो लोग माइग्रेन के मरीज होते हैं, उन्हें भी मोशन सिकनेस ज्यादा होने की संभावना होती है। साथ ही, मोशन सिकनेस के दौरान भी माइग्रेन होने की आशंका होती है। मोशन सिकनेस 3 से 12 साल के बच्चों में आम होता है। बड़े होते-होते इसकी घटनाएं कम होती जाती हैं।

बचने के लिए टिप्स
आइए कुछ ऐसे नुस्खों के बारे में जानते हैं, जिनके जरिए इस समस्या को कंट्रोल किया जा सकता है। खाली पेट सफर न करें: यात्रा करने से पहले कुछ न खाने से उल्टी हो सकती है। साथ ही चक्कर भी आ सकता है। हमेशा अच्छे से खा-पीकर ही ट्रैवल करें।   पीछे की सीट पर बैठने से बचें: बस जैसे वाहनों में सबसे पीछे की सीट पर बैठने से स्पीड का अनुभव ज्यादा होता है, जो मोशन सिकनेस का कारण बनता है। सफर के दौरान भीड़ से बचें: भीड़-भाड़ वाले व्हीकल में सफर करने से आपको घबराहट हो सकती है। यात्रा के समय किताब न पढ़ें: सफर के दौरान कुछ भी पढ़ने से दिमाग में कंफ्यूजन हो सकता है, जिससे मोशन सिकनेस की प्रॉब्लम हो सकती है। लौंग, नींबू, तुलसी साथ रखें: उल्टी और घबराहट से बचने के लिए भुनी लौंग खा सकते हैं।
सफर के दौरान तुलसी के पत्ते चबाना भी अच्छा उपाय है। एक बॉटल में नींबू-पुदीने का पानी अपने साथ रखें और जी मचलाने पर एक पके नींबू को छीलकर उसे सूंघ सकते हैं।

मोशन सिकनेस के लक्षण
उल्टी और घबराहट होने के अलावा भी मोशन सिकनेस के कई लक्षण होते हैं, जैसे-
पीली त्वचा
ठंडा पसीना आना
चक्कर आना
मुंह में अधिक लार बनना
सांस लेने में तकलीफ होना
सिर में दर्द होना
ज्यादा नींद आना
अधिक थकान होना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *