Tuesday, February 7

रेत खदान संचालक की मनमानियाँ रोकने को लेकर हुई बैठक

रेत खदान संचालक की मनमानियाँ रोकने को लेकर हुई बैठक


 नदी बचाने सहित कई मुद्दों को लेकर होगा अनिश्चित कालीन आंदोलन।

सीधी

गत शुक्रवार को टोंको रोंको ठोंको क्रांतिकारी मोर्चा के नेतृत्व में मझौली जनपद के कई गांव के ग्रामीणों व ग्राम प्रधान के उपस्थित में ग्राम पंचायत भुमका में बैठक हुई जिसमें लोगों ने अपनी बातें रखी और कहा कि स्थानीय प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की मिली भगत से रेत खदान ठेकेदार मनमानी रूप से रेत की हर वर्ष बेतहासा मूल्य वृद्धि कर रहा है जिससे स्थानीय व जिला भर के लोगो मे रेत की किल्लत को लेकर हाहाकार मचा हुआ है वहीं नियमविरुद्ध मशीनों से उत्खनन करते हुए नदियों के मूल स्वरूप को परिवर्तित किया जा रहा है। यही नही गौड़ खनिज अधिनियम में उल्लिखित स्थानीय लोगों को को रोजगार देने की बात को दरकिनार कर दिन रात मशीनों से उत्खनन किया जा रहा है जबकि किसी भी रेत खदान संचालक के पास कोई भी अनुमति नही है। ऐसा नही है कि सत्ता में बैठे माननीयों व प्रशासन को इसकी जानकारी नही है बल्कि कई बार समाचार पत्रों व लोगो द्वारा आवाज उठाये जाने के बाद भी खदान संचालक के कृत्यों को रोकने के बजाय उसमे पर्दा डाला जा रहा है सबकी मिलीभगत से ही खदान संचालक बेलगाम होकर मध्यप्रदेश गौड़ खनिज अधिनियम व एन जी टी के निर्देशों की धज्जियां उड़ा रहा है।

उक्त कई मुद्दों को लेकर जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आये लोगों ने क्रांतिकारी मोर्चा के नेतृत्व में नदियों का आस्तित्व बचाने , ग्रामीणों रोजगार व सस्ती रेत की उपलब्धता सुनिश्चित किये जाने व भारी वाहन नदी में प्रवसन किये जाने सहित कई मुद्दों को लेकर यथाशीघ्र अनिश्चित कालीन आंदोलन करने का निर्णय लिया है। आंदोलन टिकरी में किया जावेगा।

उक्त बैठक में क्रांतिकारी मोर्चा के संयोजक उमेश तिवारी, शिवकुमार सिंह प्रधानपति भुमका, श्री निवास साकेत प्रधान टिकरी, विनय मिश्रा, के के मिश्रा , भूपेंद्र कुशवाहा, शिवकुमार कुशवाहा, लाला गर्ग, प्रभात जायसवाल सीधी, वरुण सुक्ला चुरहट, सरोज सिंह, का. बलराज सिंह, कुसुमकली सिंह, श्रीपाल सिंह चुरहट, ज्योति प्रकाश नामदेव, राजकुमार तिवारी मझौली, रामनरेश कुशवाहा, हिन्छलाल कुसमी सहित जिले भर से लगभग आधा सैकड़ा लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.