Thursday, June 13

आश्रम-3 बवाल: गृहमंत्री ने कहा फिल्मों को लेकर एक गाइड लाइन बनाई जाएगी

आश्रम-3 बवाल: गृहमंत्री ने कहा फिल्मों को लेकर एक गाइड लाइन बनाई जाएगी


भोपाल
भोपाल में वेबसीरीज आश्रम-3 की शूटिंग पर रविवार को हुई तोड़फोड़ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के द्वारा मारपीट करने वालों को ‘गुंडा’ कहने के बाद यह विवाद और भड़क गया है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने भी इस मामले में सवाल उठाते हुए कहा है कि अब प्रदेश में धार्मिक भावनाओं को लेकर बनाई जाने वाली फिल्मों को लेकर गाइडलाइन बनाई जाएगी।

दूसरी ओर सोशल मीडिया यूजर्स भी इसको लेकर भड़के हैं। राजधानी भोपाल में ‘आश्रम-3’ वेबसीरीज की शूटिंग पर मचे बवाल को लेकर गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि फिल्म का नाम आश्रम ही क्यों? उन्होंने कहा कि फिल्म का नाम बदला जाना चाहिए। फिल्म के निर्माता झा को आड़े हाथ लेते हुए मंत्री मिश्रा ने कहा कि जिन्होंने तोड़ फोड़ की गलती की है उन पर तो कार्यवाही हो रही है, मगर प्रकाश झा आप पर क्या कार्यवाही की जाए… आप बताइए। आखिर हिंदू धर्म की भावनाओं आहत करने वाले नाम या सीन क्यों रखे जाते हैं? इतना ही नहीं गृहमंत्री ने डाबर एक विज्ञापन को लेकर भी अपना विरोध दर्ज करवाया और कहा कि हम इस पर कार्यवाही करेंगे। इस मामले में भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि क्या आश्रम पर वेबसीरीज बनाने वाले मदरसों पर भी वेबसीरीज बनाएंगे।

गृहमंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में धार्मिक भावनाओं को लेकर बनने वाली फिल्मों को लेकर एक गाइड लाइन बनाई जाएगी जिसमें शूटिंग के इस तरह के कंटेंट को लेकर फिल्म निर्माताओं को जिला प्रशासन से अनुमति लेना होगा। यह बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा कि किसी धर्म को दिखाकर धार्मिक भावनाओं को आहत किया जाए। डाबर के विज्ञापन मामले में भी निर्देशित करूंगा डीजीपी को कि वे इसका परीक्षण कराएं, उसके बाद आगे की कार्यवाही होगी।

इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया है कि भोपाल फिल्मों की शूटिंग के लिए काफी लोकप्रिय हो गया है। प्रकाश झा देश के ख्याति प्राप्त फिल्म निर्माता हैं। क्या प्रकाश झा की यूनिट को भोपाल पुलिस द्वारा संरक्षण नहीं देना चाहिए था? मुख्यमंत्री, गृहमंत्री को घेरते हुए उन्होंने लिखा कि मध्यप्रदेश की जनता आपके पाले हुए गुण्डों को कब तक बर्दाश्त करेगी?

गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दिग्विजय सिंह जबलपुर, धार, बड़वानी की घटनाओं पर क्यों नहीं बोलते, आप को काजी साहब जिंदाबाद नजर आता है पाकिस्तान जिंदाबाद में। आपकी मानसिकता को अब पूरा देश समझ चुका है। आपको राष्ट्रभक्त गुंडे नजर आएंगे। आप टुकड़े-टुकड़े गैंग की मानसिकता को लेकर राजनीति कर रहे हैं।

उधर इसी मामले में भोपाल जिले के प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि वेबसीरीज में हम देखेंगे कि प्रतिबंधित करने वाली बातें क्या हैं? कल का घटनाक्रम जो हुआ वह दुर्भाग्यजनक है। सरकार के पास बात आती तो बातचीत कर हल निकल सकता था। प्रदेश में फिल्म की शूटिंग के लिए पर्याप्त सुरक्षा और साधन उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *