Friday, June 14

CM ने दी बड़ी सुविधा, पशुओं के लिए शुरू होगी एम्बुलेंस सेवा

CM ने दी बड़ी सुविधा, पशुओं के लिए शुरू होगी एम्बुलेंस सेवा


भोपाल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मशीनीकरण के कारण गाय-बैल का महत्व कम हुआ है। केमिकल फर्टिलाइजर की खेती से पूरी दुनिया एक अलग तरह की बीमारी का शिकार हो रही है और देर सबेर जैविक खेती की ओर लौटना होगा। हम प्रदेश में गौपालन को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं ताकि लोगों की आर्थिक स्थिति सुधारने का काम भी हो सके। जिस तरह से लोगों की बीमारी से उपचार सुविधा के लिए 108 एंबुलेंस काम कर रही है, उसी तरह पशुओं के लिए 109 नम्बर से एंबुलेंस चलाने पर विचार कर रहे हैं ताकि बीमार पशुओं को लाने की बजाय वहीं पहुंचने वाली एंबुलेंस से उपचार किया जा सके।  

सीएम चौहान ने ये बातें राजधानी के कामधेनु भवन में महिला पशु चिकित्सकों के राष्ट्रीय शक्ति सम्मेलन में कहीं। केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला, वेटरनरी एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ उमेश शर्मा, डॉ गोल्डी जोशी, नीतिश भारद्वाज, केंद्रीय पशुपालन विभाग के सचिव अतुल चतुर्वेदी समेत अन्य अतिथियों की मौजूदगी में सीएम चौहान ने कहा कि गौपालन से आर्थिक स्थिति को सुधारने का काम तेज किया जा सकता है क्योंकि गाय के गोबर, गो मूत्र से अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में मदद मिल सकती है। महिला पशु चिकित्सक इस दिशा में काम कर रही हैं तो पशुपालन को बढ़ावा मिलेगा।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश में श्मशान घाटों में लकड़ी की बजाय गोकाष्ठ को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा है। सीएम चौहान ने कहा कि पशुपालन और गौपालन का चोली दामन का साथ है। इस सम्मेलन में जो सुझाव आएंगे, उसे मध्यप्रदेश सरकार लागू करने का प्रयास करेगी।  सीएम चौहान ने कार्यक्रम में महिला चिकित्सकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे अपनी आजिविका का निर्वाह किसानी और गौपालन करके करते हैं। व्यस्तता के चलते वे तो इस काम को पूरा समय नहीं दे पाते पर बेटा इसमें सहयोग करता है। सुधा अमृत के नाम से दूध बेचने का काम गौपालन के जरिये किया जाता है। साथ ही किसानों से भी दूध लेकर बेचते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *