Thursday, June 13

कर्नल विप्लव त्रिपाठी, पत्नी और पुत्र सहित माओवादी हमले में शहीद

कर्नल विप्लव त्रिपाठी, पत्नी और पुत्र सहित माओवादी हमले में शहीद


रायपुर
मणिपुर राज्य के चुराचन्दपुर जिले के ग्राम सियालसी के समीप हुए माओवादी हमले में दैनिक बयार रायगढ़ के सम्पादक एवं वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के पुत्र कर्नल विप्लव त्रिपाठी (40 वर्ष), बहू श्रीमती अनुजा त्रिपाठी (38 वर्ष) एवं पांच वर्षीय पौत्र अबीर त्रिपाठी शहीद हो गए।

यह घटना आज पूर्वान्ह 11.30 बजे उस वक्त घटित हुई, जब कर्नल विप्लव त्रिपाठी, बिहांग को-पोस्ट का विजिट कर वापस लौट रहे थे। सियालसी गांव के पास एम्बुस लगाएं माओवादियों ने हमला कर दिया, जिसमें वे और उनके परिवार के लोग शहीद हो गए।  इस माओवादी हमले में कर्नल विप्लव त्रिपाठी सहित 7 जवान शहीद हो गए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने माओवादी हमले को कायराना कृत्य करार देते हुए इसकी कड़े शब्दों में भत्र्सना की है। उन्होंने कर्नल विप्लव त्रिपाठी की शहादत को नमन करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।

वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी का छोटा बेटा अनय त्रिपाठी भी अपने बड़े भाई की तरह सेना में आॅफिसर है और मणिपुर में ही पदस्थ है वह 1 दिन पहले ही रायगढ़ पहुंचा हुआ था। घटना की सूचना मिलने पर वह तुरंत मणिपुर के लिए रवाना हो गए। कर्नल विप्लव और उनके शहीद हुए परिवार के पार्थिव शरीर को सेना के विशेष विमान द्वारा कल रायगढ़ लाया जाएगा। इस घटना की खबर लगते ही रायगढ़ के हंडी चौक स्थित वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के मकान में रायगढ़ के समूचे पत्रकारों के अलावा शहर के संभ्रांत जनों का तांता लग गया।

राज्यपाल ने किया शोक व्यक्त
राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने मणिपुर राज्य के चुराचन्दपुर जिले के ग्राम सियालसी के समीप हुए आतंकी हमले में हुए शहीद कर्नल विप्लव त्रिपाठी तथा उनके परिजनों के प्रति शोक व्यक्त किया है। राज्यपाल ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। कर्नल त्रिपाठी छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के निवासी है, वे दैनिक बयार रायगढ़ के संपादक एवं वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के पुत्र है। उल्लेखनीय है कि कर्नल विप्लव त्रिपाठी आज सुबह 11 बजे बिहांग को-पोस्ट का विजिट कर वापस लौट रहे थे। तभी एम्बुश लगाए आतंकियों ने उन पर हमला कर दिया। जिसमें कर्नल विप्लव त्रिपाठी, उनकी पत्नी अनुजा त्रिपाठी तथा पांच वर्षीय पुत्र आबिद त्रिपाठी तथा अन्य जवान शहीद हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *