Thursday, July 25

राजधानी में बेकाबू हुआ कोरोना, मंगलवार को 97 मरीजों की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

राजधानी में बेकाबू  हुआ कोरोना, मंगलवार को 97 मरीजों की रिपोर्ट आई पॉजिटिव


न्यूज डेस्क- राजधानी भोपाल में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों ने प्रशासन की नींद उड़ा रखी है। मंगलवार को भोपाल में 97 मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटव आने के साथ मरीजों की संख्या 943 पर पहुंच गई है। सीएमसीएच कैंप में 4, अरेरा कॉलोनी में 2, पीएचक्यू में 1 महिला, आरपीएफ थाने में 2 जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 18वीं बटालियन पलक होटल में दो लोग कोरोना संक्रमित मिले है। सीआरपीएफ कैंप बंगरसिया में 1 जवान, एसआरएफ कैंम से 6 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। टीटीनगर इलाके में 2, जहांगीराबाद में 1 और गांधी मेडिकल कॉलेज में 1 महिला कोरोना संक्रमित पाई गई है।

कोरोना को लेकर बेपरवाह हुए लोग

कोरोना को लेकर लोगों की लापरवाही शहर में बढ़ रहे संक्रमण की एक वजह मानी जा रही है। राजधानी की बात करें, तो अनलॉक के बाद बाजारों और सड़कों पर बढ़ रही लोगों की भीड़ के कारण कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। गुटखे पर प्रतिबंध के बाद भी लोगों शहर में खुले आम पान-गुटखे की बिक्री लगातार जारी है। जिला प्रशासन ने एक जगह पर भीड़ लगाने पर भी प्रतिबंध लगाया हुआ है। लेकिन इस प्रतिबंध का असर भी लोगों पर नहीं दिख रहा है। चाय ठेलों और नाश्ते की दुकानों पर लोगों की भीड़ साफ देखी जा रही है।

मास्क को लेकर जनता की लापरवाही

कोरोना संक्रमण की रोकधाम के लिए मास्क को बहुत उपयोगी माना जा रहा है। फेसमास्क के जरिए कोरोना के संक्रमण से 80 फीसदी तक बचा जा सकता है। WHO, केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने मास्क लगाने को अनिवार्य कर दिया है। लेकिन शहर के लोग मास्क लगाने से परहेज करते नजर आ रहे है। खासकर पुराने भोपाल में जहां सबसे ज्यादा संक्रमित मामले मिले है, आम जनता बिना मास्क के सड़कों पर देखी जा सकती है। लोगों की ये लापरवाही कोरोना के बढ़ते संक्रमण को कैसे काबू में ला पाएगी, ये तो आने वाला वक्त ही बता पाएगा। कोरोना संक्रमम के बढ़ते मामलों को गंभीरता से लेते हुए ग्वालियर और शिवपुरी में 19 जुलाई तक लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। वहीं राजधानी में एक बार फिर लॉकडाउन लगने की खबरें सामने आने लगी है। भोपाल में लॉकडाउन को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के कहा कि फिलहाल अभी लॉकडाउन जैसा को प्लान नहीं है। शहर के हालातों पर क्राइसेस मैंनेजमेंट टीम फैसला लेगी आगे क्या करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *