Saturday, April 20

​​​​​​​किसान धनकुमार ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना से प्रभावित होकर मूंगफली की खेती की

​​​​​​​किसान धनकुमार ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना से प्रभावित होकर मूंगफली की खेती की


गरियाबंद
 छुरा विकासखण्ड के ग्राम खुडियाडीह के किसान धनकुमार साहू इन दिनों मूंगफली की खेती कर विशेष पहचान बना ली है। छत्तीसगढ़ शासन के राजीव गांधी किसान न्याय योजना से प्रभावित होकर उन्होंने परम्परागत धान की खेती के बदले मूंगफली की खेती करना प्रारंभ किया। जिससे उन्हें धान की तुलना में अतिरिक्त लाभ हुआ। इसके अलावा शासन की महत्वाकांक्षी योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत आदान सहायता राशि दस हजार रूपये का भी लाभ भी मिला।

किसान धनकुमार से बताया कि उनकी कुल भूमि का रकबा 1.30 हेक्टेयर है। जिसमें मैं पहले केवल धान की खेती कर रहा जिससे मुझे काफी कम आय प्राप्त होती थी। खरीफ वर्ष 2020-21 में कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी आर.के. वर्मा ने बताया कि मेरी कृषि भूमि मूंगफली की खेती के लिये काफी उपयुक्त है, यदि मैं मूंगफली की खेती करता हूं तो धान के अपेक्षा मेरी आय में वृद्धि होगी और पानी की समस्या का भी हल निकल जायेगा। उनके सलाह पर मैने खरीफ वर्ष 2020-21 में 0.40 हे. मूंगफली की खेती किया, साथ ही राजीव गांधी न्याय योजना के तहत आदान सहायता राशि दस हजार रूपये प्रति एकड़ प्राप्त किया। लगभग 1 एकड़ क्षेत्र में 8 क्विं मूंगफली का उत्पादन किया। इसे मैंने गांव के कृषकों को 60 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से विक्रय किया, जिससे 48 हजार रूपये का आय हुआ। यह मेरे लिए अतिरिक्त आमदनी का एक सशक्त माध्यम बना। निश्चित ही मेरी आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ। किसान धनकुमार ने राज्य शासन के इस योजना को मददगार और किसानों के लिए कारगर बताया है और उन्होंने धन्यवाद दिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *