Saturday, July 13

प्रथम हॉकी इंडिया जूनियर बालक इंटर अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनशिप-2021

प्रथम हॉकी इंडिया जूनियर बालक इंटर अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनशिप-2021


भोपाल

मध्यप्रदेश हॉकी अकादमी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए प्रथम हॉकी इंडिया जूनियर बालक इंटर अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनशिप-2021 के खिताब पर कब्जा जमा लिया है।मप्र हॉकी अकादमी ने फाइनल मुकाबले में राजा करण हॉकी अकादमी को 3-1 से हराकर लगातार दूसरा खिताब जीत लिया। इससे पहले मप्र हॉकी अकादमी ने प्रथम हॉकी इंडिया सब जूनियर बालक इंटर अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम किया था। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया और पद्मपुलेला गोपीचंद ने पुरस्कार वितरित किए।

हॉकी इंडिया एवं खेल और युवा कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित चैंपियनशिप के मुकाबले मेजर ध्यानचंद स्टेडियम की नवनिर्मित टर्फ पर खेले गए। फाइनल मुकाबले के पहले क्वार्टर में दोनों टीमों ने सधे हुए खेल का प्रदर्शन किया। हालांकि, दोनों ही टीमें गोल नहीं कर पाई। दूसरे क्वार्टर में मप्र हॉकी अकादमी के कोच ओलंपियन समीर दाद ने टीम को कुछ बदली हुई रणनीति के साथ उतारा। इसका फायदा टीम को मिला। मैच के 19वें मिनट में मप्र हॉकी अकादमी को पेनल्टी कॉर्नर मिला, जिस पर सौरभ पशीने ने गोल कर टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। अगले ही मिनट में अख्तर अली को मौका मिला और उन्होंने टीम को 2-0 की बढ़त पर ला दिया।  मैच के 39वें मिनट में श्रेयस धुपे ने पेनल्टी कॉर्नर पर गोल करते हुए टीम की बढ़त को 3-0 कर दिया। मैच के चौथे क्वार्टर में राजा करण हॉकी अकादमी को पेनल्टी स्ट्रोक मिला और अज्ञपाल ने इसे गोल में बदलकर स्कोर 1-3 कर दिया। मप्र हॉकी अकादमी ने 3-1 से मुकाबला और खिताब अपने नाम कर लिया।
चैंपियनशिप में तीसरे स्थान के मुकाबले में नामधारी इलेवन ने राउंडग्लास पंजाब हॉकी अकादमी को 6-4 से पराजित किया।

खेल और युवा कल्याण मंत्री श्रीमती सिंधिया ने खेल प्रारंभ होने के समय से ही मैदान पर उपस्थित होकर खिलाड़ियों का हौसला अफजाई की। उनके साथ पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी पद्मपुलैला गोपीचंद भी उपस्थित रहे। उन्होंने दोनों टीमों के खिलाड़ियों को अच्छे प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएँ दी।इस दौरान उन्होंने अन्य टीमों के प्रशिक्षक और मैनेजर से भी चर्चा की। इस अवसर पर प्रमुख सचिव खेल गुलशन बामरा, डीजी होमगार्ड पवन जैन, संचालक खेल रवि कुमार गुप्ता और खेल विभाग के पदाधिकारी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा यह जीत कड़ी मेहनत बेहतर प्रशिक्षण और दृढ़ निश्चय का ही नतीजा है कि हमने जूनियर और सब जूनियर वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त कर यह सिद्ध कर दिया है कि भोपाल पुनः हॉकी की नर्सरी के रूप में उभर कर आ रहा है। हमें अपने प्रशिक्षकों पर गर्व है, जिन्होंने 6 माह में ही टैलेंट सर्च के माध्यम से बच्चों का चयन कर उन्हें चुनकर इस स्तर का प्रशिक्षण दिया कि वे आज विजेता घोषित हुए हैं।

पद्मपुलेला गोपीचन्द ने मध्यप्रदेश में खेलों के क्षेत्र में किए जा रहे उत्कृष्ट प्रयासों की मुक्तकंठ से सराहना की। उन्होंने विजेता एवं उप विजेता टीमों को बधाई दी और फायनल मैच को बहुत ही उच्चस्तर का बताया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक टीम की सफलता में सिर्फ खिलाड़ियों का ही योगदान नहीं रहता बल्कि सपोर्टिंग स्टॉफ की भी अहम भूमिका होती है। पुलेला ने प्रतियोगिता में आए सभी प्रशिक्षकों, खिलाड़ियों, स्पोर्टिंग स्टाफ को बधाई दी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में खेलों के लिए बेहतरीन कार्य हुए हैं और लगातार विभिन्न खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर प्रदेश ने अपनी पहचान बनाई है।

खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने मध्यप्रदेश हॉकी अकादमी के सब जूनियर  एवं  जूनियर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए दोनों टीम के प्रत्येक सदस्य को 15 हजार एवं 20 हजार रुपए के चेक प्रदान किये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *