Friday, June 14

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पहले ही कह दिया था कि नोटबंदी एक संगठित घोटाला है- दिग्विजय सिंह

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पहले ही कह दिया था कि नोटबंदी एक संगठित घोटाला है- दिग्विजय सिंह


भोपाल
पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस के जन जागरण अभियान की मध्यप्रदेश में शुरुआत करते हुए मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए ।उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद देश की अर्थव्यवस्था चौपट हुई और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की चेतावनी सच निकली। मनमोहन सिंह जी ने कहा था कि नोटबंदी से जीडीपी में कम से कम 2% का नुकसान होगा और यह एक संगठित लूट एवं घोटाला है ।

सिंह ने कहा कि मोदी जी ने देश से वादा किया था कि नोटबंदी से नकली करेंसी समाप्त हो जाएगी। भ्रष्टाचार समाप्त हो जाएगा। काला धन खत्म हो जाएगा और आतंकवाद समूल नष्ट हो जाएगा। तथ्य यह है कि नोटबंदी के पूर्व लगभग 17 लाख करोड़ की तरल नगदी करेंसी के रूप में बाजार में थी जबकि आज 28 लाख करोड़ से अधिक तरल नगदी बाजार में है।  यह 11 लाख करोड़ की अतिरिक्त मुद्रा कहां से आई है?क्या नोटबंदी के माध्यम से नकली नोट असली में परिवर्तित किए गए हैं? इसका जवाब इस सरकार को देना होगा। इस घोटाले पर सरकार की तरफ से कोई सफाई क्यों नहीं है?

 सिंह ने पूछा कि क्या भ्रष्टाचार समाप्त हो गया है? क्या आतंकवाद नष्ट हो गया है? क्या काला धन वापस आ गया है ?नहीं जुमला सरकार के इन जुमलों ने देश की अर्थव्यवस्था जरूर चौपट कर दी है ।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि नोटबंदी के बाद देश के एम एस एम ई पर जबरदस्त संकट छाया है। चालीस फीसद से ज्यादा उद्योग बंद हो गए हैं जबकि देश की अर्थव्यवस्था की रीड की हड्डी यही छोटे और मझोले उद्योग हैं।  देश में चार-पांच उद्योग पतियों को मजबूत बनाने का काम किया जा रहा है ।

सिंह ने कहा अकेले पेट्रोल डीजल की कीमतें बढ़ाकर सरकार ने पिछले 1 साल में साढ़े तीन लाख करोड़ की अतिरिक्त कमाई की है। कहा गया था कि टीकाकरण कराना है तो महंगा पेट्रोल खरीदना पड़ेगा । टीकाकरण का खर्चा तो मात्र 20हजार करोड़ है तो बाकी पैसे कहां गए? कहा गया है कि ऑयल बॉन्ड के कारण पेट्रोल महंगा देना पड़ रहा है। सरकार ने ऑयल बॉन्ड पर मात्र 35 सौ करोड़ का भुगतान ही किया है तो बाकी 3लाख करोड़ अधिक कमाई कहां गई? उन्होंने आरोप लगाया कि कारपोरेट टैक्स में कटौती करके मोदी जी ने  पूंजीपतियों का सवा लाख करोड़ रूपया का टैक्स घटाया है जो गरीबों की जेब से छीन कर पेट्रोल की कीमतों पर मुनाफे से कमाया गया था। गरीबों से पैसा छीन कर पूंजी पतियों के जेब भरने की यह कला नोटबंदी का सबसे बड़ा घोटाला है। इसी के कारण महंगाई बढ़ रही है और जनता को झेलने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

 दिग्विजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी इन नीतियों के खिलाफ जन जागरण का अभियान गांव-गांव तक ले जाना चाहती है उन्होंने कहा कि प्रत्येक राज्य से पांच व्यक्तियों को वर्धा के ट्रेनिंग कैंप में प्रशिक्षित किया जाएगा। ये प्रशिक्षक प्रत्येक संसदीय क्षेत्र में 10 कार्यकर्ताओं को ट्रेन करेंगे और संसदीय क्षेत्र के प्रशिक्षक प्रत्येक विधानसभा पर 10-10 प्रशिक्षक तैयार करेंगे ।इसके बाद हमारे संगठनात्मक मंडलों एवं सेक्टरों पर 20-20 प्रशिक्षक तैयार होंगे, जो कांग्रेस की रीति नीति और दर्शन को लोगों के बीच में ले जाएंगे।

 14 नवंबर से 29 नवंबर तक 15 दिन प्रत्येक जिला, ब्लॉक, मंडल, सेक्टर पर मांस कांटेक्ट कार्यक्रम चलेगा। हर बड़े नेता को यह जवाबदारी दी जा रही है इन 15 दिनों में कम से कम 7 दिन उसकी जनसंपर्क अभियानों में उपस्थिति सुनिश्चित हो जिसकी मानिटरिंग हमारा केंद्रीय डाटा सेंटर करेगा।

दलित बस्तियों में प्रभात फेरी के साथ सफाई कार्यक्रम  किया जाएगा और उसके बाद सघन जनसंपर्क कर पार्टी के सदस्यता अभियान से जोड़ा जाएगा ।प्रत्येक राज्य में राज्य स्तरीय मानिटरिग केन्द्र प्रगति पर नजर रखेगा।मध्यप्रदेश में मानीटरिंग केंद्र की जिम्मेवारी पूर्व मंत्री एवं विधायक पी सी शर्मा को दी गई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा की जुमला नीतियों के खिलाफ डटकर मुकाबला करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *