Friday, February 23

Gogamedi Murder : गोगामेड़ी हत्याकांड में 5 दिन बाद हुई पहली गिरफ्तारी, शूटर नितिन फौजी से ये है कनेक्शन

Gogamedi Murder : गोगामेड़ी हत्याकांड में 5 दिन बाद हुई पहली गिरफ्तारी, शूटर नितिन फौजी से ये है कनेक्शन


जयपुर

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में पुलिस ने पहली गिरफ्तारी की है. पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसेफ ने बताया कि गोगामेड़ी हत्याकांड के साजिशकर्ताओं में शामिल एक आरोपी रामवीर को अरेस्ट किया है. उन्होंने बताया कि आरोपी रामवीर ने ही नितिन फौजी के लिए जयपुर में सारे इंतजाम किए थे.

5 दिसंबर को सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की 2 शूटर्स नितिन फौजी और रोहित राठौड़ ने श्याम नगर स्थित उनके निवास स्थान पर अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या की थी. नितिन फौजी के लिए आरोपी रामवीर ने ही जयपुर में पूरे इंतजाम किए थे. अतिरिक्त पुलिस आयुक्त कैलाश चन्द्र बिश्नोई ने बताया कि आरोपी रामवीर शूटर नितिन फौजी का घनिष्ठ दोस्त है.

पुलिस ने बताया कि रामवीर सिंह और नितिन फौजी के गांव आसपास हैं. रामवीर हरियाणा के महेंद्रगढ़ के गांव सुरेती पिलानियां का रहने वाला है. दोनों 12वीं कक्षा में एक ही स्कूल में पढ़ते थे. 12वीं पास करने के बाद नितिन फौजी साल 2019-20 में सेना में भर्ती हो गया. वहीं, रामवीर ने जयपुर के मानसरोवर स्थित विल्फ्रेड कॉलेज से वर्ष 2017 से 2020 तक बीएससी और वर्ष 2021 से 2023 में विवेक पीजी जयपुर से एमएएससी की. रामवीर अप्रैल 2023 में एमएससी का आखिरी एग्जाम देने के बाद गांव चला गया था.

शूटर नितिन फौजी के लिए जयपुर में पूरी व्यवस्था रामवीर ने की थी

पुलिस के अनुसार नितिन फौजी के लिए जयपुर में पूरी व्यवस्था रामवीर ने की थी. उन्होंने बताया कि ये दोनों दोस्त हैं. वारदात के बाद रामवीर ही आरोपी नितिन एवं रोहित को मोटरसाइकिल पर लेकर बगरू टोल प्लाजा से आगे गया और उन्हें राजस्थान रोडवेज की एक बस में बैठाया था. पुलिस के अनुसार इस मामले में रामवीर एवं एक अन्य संदिग्ध आरोपी से पूछताछ की जा रही है.

5 दिसंबर को हुई थी गोगामेड़ी की हत्या

जयपुर में मंगलवार 5 दिसंबर को अज्ञात हमलावरों ने श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के घर में घुसकर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी. अस्पताल में इलाज के दौरान गोगामेड़ी की मौत हो गई थी. पुलिस के अनुसार इस घटना के दौरान हमलावरों ने अपने साथ एक व्यक्ति को भी गोली मार दी तथा घर में मौजूद एक अन्य व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया. पुलिस के अनुसार हमलावर बातचीत करने के बहाने गोगामेड़ी के घर में दाखिल हुए और कुछ देर बातचीत करने के बाद उन्होंने गोलियां चलाना शुरु कर दिया. दोनों हमलावरों ने उनके साथ आये नवीन शेखावत को भी गोली मार दी. इस वारदात में गोगामेड़ी और नवीन की मौत हो गई जबकि परिचित अजीत गंभीर रूप से घायल हो गया.

हमले की जिम्मेदारी रोहित गोदारा गैंग ने ली

इस घटना की रोहित गोदारा गैंग ने जिम्मेदारी ली है. गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गिरोह से जुड़े रोहित गोदारा ने सोशल मीडिया पर वायरल एक पोस्ट में गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी ली थी. उसने कहा है कि गोगामेड़ी उसकी गैंग के दुश्मनों का समर्थन कर रहा था और उन्हें सशक्त कर रहा है.

पूरा घटनाक्रम सीसीटीवी कैमरे में कैद

गोगामेड़ी पर हमले का पूरा घटनाक्रम घर पर लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हो गया. वीडिया में अपराधियों को गोगामेड़ी पर गोलियां चलाते साफ दिख रहे हैं. अपराधियों ने गोगामेड़ी पर कई राउंड गोलियां चलाईं.

गोगामेड़ी ने 2015 में की थी श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना का गठन

करणी सेना के संस्थापक और संरक्षक लोकेंद्र सिंह कालवी के साथ मतभेदों के बाद गोगामेड़ी 2015 में श्री राजपूत करणी सेना से अलग हो गए और उन्होंने श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना का गठन किया था. इन दोनों संगठनों ने राजपूत समुदाय के संदर्भ में ऐतिहासिक तथ्यों से कथित छेड़छाड़ को लेकर फिल्म पद्मावत का विरोध किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *