Friday, February 23

लैपटॉप पर मोबाइल के ऐप्स के ऐप्स को यूज करने का तरीका

लैपटॉप पर मोबाइल के ऐप्स के ऐप्स को यूज करने का तरीका


विंडोज 11 बीटा टेस्टर अब सीधे माइक्रोसॉफ्ट स्टोर के जरिए अपने सिस्टम पर Android Apps इंस्टॉल कर सकते हैं। यह नया एक्सपीरियंस यूजर्स को माइक्रोसॉफ्ट द्वारा किए गए विंडोज 11 में एंड्रॉइड ऐप सपोर्ट लाने के वादे के बाद दिया गया है। एएमडी, इंटेल और क्वालकॉम प्रोसेसर पर आधारित विंडोज पीसी वाले बीटा टेस्टर एंड्रॉइड ऐप का टेस्ट कर सकते हैं।

माइक्रोसॉफ्ट का दावा है कि विंडोज 11 पर एंड्रॉइड ऐप और गेम चलाने का एक फैमिलियर एक्सपीरियंस उपलब्ध होगाा क्योंकि यूजर्स नए स्नैप लेआउट फीचर का उपयोग करके उन्हें साथ-साथ चला पाएंगे या उनमें से किसी को भी स्टार्ट मेन्यू में पिन कर पाएंगे।

एंड्रॉइड ऐप्स को Alt + Tab फ़ंक्शन और टास्क व्यू में भी इंटीग्रेट किया जा सकता है जिससे यूजर्स ऐप्स के बीच आसानी से शफल कर पाएंगे ठीक उसी तरह जैसे वे अपने नियमित विंडोज ऐप्स के बीच कर पाते हैं।

शुरुआती दौर में, माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 11 बीटा टेस्टर के लिए 50 एंड्रॉइड ऐप तैयार किए हैं जो विंडोज इनसाइडर प्रोग्राम का हिस्सा हैं। इनमें लॉर्ड्स मोबाइल, जून्स जर्नी और कॉइन मास्टर जैसे मोबाइल गेम्स के साथ-साथ किंडल, खान एकेडमी किड्स और लेगो डुप्लो वर्ल्ड जैसे ऐप शामिल हैं।

बीटा टेस्टिंग के लिए विंडोज 11 पर 50 एंड्रॉइड ऐप की गिनती वास्तव में काफी कम है क्योंकि अगर Google Play के साथ तुलना की जाए तो यहां पर लगभग 3.5 मिलियन ऐप हैं। अमेजन ऐपस्टोर जो अनिवार्य रूप से विंडोज 11 पर एंड्रॉइड ऐप सपोर्ट को इनेबल करने के लिए एक ब्रिज के तौौर पर काम कर रहा है, में 4,60,000 से ज्यादा एंड्रॉइड ऐप हैं।

माइक्रोसॉफ्ट ने माइक्रोसॉफ्ट स्टोर के अंदर अमेजन ऐपस्टोर को इंटीग्रेट किया है जिससे यूजर्स विंडोज 11 कंप्यूटरों पर एंड्रॉइड ऐप डाउनलोड और इंस्टॉल कर पाएं। कंपनी ने दावा किया है कि लेटेस्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर एंड्रॉइड ऐप और गेम चलाने का अनुभव एक नेटिव ऐप चलाने जैसा होगा।

इसका मतलब है कि यूजर्स माउस, टच और पेन इनपुट के जरिए एंड्रॉइड ऐप के साथ इंटरैक्ट कर पाएंगे और स्नैप लेआउट फीचर का इस्तेमाल करके उन्हें साथ-साथ चला भी पाएंगे। साथ ही उन्हें स्टार्ट मेनू या टास्कबार पर पिन कर सकेंगे।

विंडोज 11 पीसी पर इंस्टॉल किए गए एंड्रॉइड ऐप की नोटिफिकेशन्स भी एक्शन सेंटर में दिखाई देंगी। यह वैसा ही होगा जैसे आपको नेटिव ऐप की नोटिफिकेेशन मिलती है। इसी तरह, क्लिपबोर्ड डाटा को विंडोज ऐप और एंड्रॉइड ऐप के बीच शेयर भी किया जा सकता है। विंडोज टीन ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि उन्होंने यूजर्स की पहुंच को ध्यान में रखते हुए इस एक्सपीरियंस को बनाया है। कई विंडोज एक्सेसिबिलिटी सेटिंग्स एंड्रॉइड ऐप पर लागू होती हैं और कंपनी ज्यादा बेहतरी के लिए अमेजन के साथ काम कर रही है।

माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 11 में एंड्रॉइड के लिए विंडोज सबसिस्टम नामक एक नया कंपोनेंट को जोड़ा है। यह लिनक्स के लिए विंडोज सबसिस्टम की तरह ही हाइपर-वी वर्चुअल मशीन में चलता है। इसमें एंड्रॉइड ऐप सपोर्ट को इनेबल करने के लिए एंड्रॉइड ओपन सोर्स प्रोजेक्ट (एओएसपी) वर्जन 11 पर आधारित लिनक्स कर्नेल और एंड्रॉइड ओएस शामिल है। अमेजन ऐपस्टोर इंस्टाल के हिस्से के रूप में सबसिस्टम को माइक्रोसॉफ्ट स्टोर के जरिए से भी वितरित किया जाता है।

समय के साथ, माइक्रोसॉफ्ट का लक्ष्य "ज्यादा एपीआई, कैपेबिलिटी और सीनैरियोज के लिए सपोर्ट जोड़कर एंड्रॉइड के लिए विंडोज सबसिस्टम को मजबूत करना है जिससे इसे अतिरिक्त एंड्रॉइड ऐप चलाने में सक्षम बनाया जा सके।

नया विंडोज सबसिस्टम एएमडी, इंटेल और क्वालकॉम समेत सभी विंडोज कई प्रोसेसर के साथ उपलब्ध हैं। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी इंटेल के साथ क्लोजली काम कर रही है जिससे वो ब्रिज टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर सके और एएमडी और इंटेल डिवाइसेज पर चलने के लिए आर्म-ओनली ऐप्स को सक्षम बना सके। इसके अलावा, रेडमंड कंपनी भी आने वाले समय में विंडोज 11 पीसी पर अपनी पहुंच बनाना चाहती है और उसके लिए वो अपने एंड्रॉइड ऐप को अमेजन ऐपस्टोर पर पब्लिश करने के लिए ऐप डेवलपर्स से सीधे जुड़ने की योजना बना रही है।

इस समय, सीमित Android ऐप्स सपोर्ट केवल अमेरिका में Windows 11 के बीटा चैनल के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है। इसका मतलब है कि आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका विंडोज 11 पीसी अमेरिका क्षेत्र पर सेट होना चाहिए तभी आप इसे इस्तेमाल कर पाएंगे। आप जिस अमेजन अकाउंट का इस्तेमाल कर रहे हैं वह भी अमेजन ऐपस्टोर के माध्यम से एंड्रॉइड ऐप डाउनलोड करने के लिए अमेरिका आधारित होना चाहिए।

Microsoft ने सबसे पहले जून महीने में नए प्लेटफॉर्म को शोकेस किया था और उसी समय विंडोज 11 पर एंड्रॉइड ऐप सपोर्ट का डेमो दिया था। हालांकि, कंपनी ने सितंबर महीने में पुष्टि की थी कि एंड्रॉइड ऐप इस महीने की शुरुआत में पहली विंडोज 11 रिलीज का हिस्सा नहीं होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *