Wednesday, April 17

जाबाली योजना: संवेदना से सशक्त बनेंगी बेडिया, बाछड़ा और सांसी महिलाएं

जाबाली योजना: संवेदना से सशक्त बनेंगी बेडिया, बाछड़ा और सांसी महिलाएं


भोपाल
प्रदेश के नौ जिलों की बेड़िया, बांछड़ा और सांसी समुदाय की महिलाओं और बालिकाओं को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने और उनके आर्थिक सशक्तिकरण के लिए संवेदना कार्यक्रम संचालित किया जाएगा।

जाबाली योजना के तहत मध्यप्रदेश महिला वित्त एवं विकास निगम संवेदना का संचालन करेगा। निजी सामाजिक संस्थाओं को इसकी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। मध्यप्रदेश के सागर, छतरपुर, रायसेन, मुरैना, राजगढ़, रतलाम, पन्ना,  नीमच और मंदसौर में विशेष समुदाय की महिलाओं और बालिकाओं की संख्या काफी ज्यादा है। इनके उत्थान के लिए इन जिलों में संवेदना कार्यक्रम का संचालन किया जाएगा। संवेदना कार्यक्रम के अंतर्गत  इस वर्ग की महिलाओं और बालिकाओं का बेस लाईन सर्वे किया जाएगा।

इस समुदाय की महिलाओं और बालिकाओं की समस्याओं का समाधान और इनके आर्थिक सशक्तिकरण की रणनीति तैयार की जाएगी। इनकी क्षमता संवर्धन करने और इन्हें और जागरुक बनाने के लिए समूहों का निर्माण कराया जाएगा। सूक्ष्म वित्तीय संस्थाओं से इन्हें जोड़ा जाएगा। इस वर्ग की महिलाओं के प्रारंभिक स्वास्थ्य और शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी। इस समुदाय को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए मूल्यांकन और विश्लेषण भी किया जाएगा।

इन जिलो में संवेदना कार्यक्रम के संचालन के लिए महिला वित्त एवं विकास निगम ने समाज में सक्रिय  एवं सोसायटी एक्ट में पंजीकृत संस्थाओं से 31 अक्टूबर तक आवेदन बुलाए गए है। महिला सशक्तिकरण, वैश्यावृत्ति उन्मूलन,समूह गठनएवं प्रशिक्षण, महिला उद्यम की स्थापना करने और बैंक लिंकेज के क्षेत्र में काम कर चुकी संस्थाओं को यह काम सौपा जाएगा। संस्था ऐसी हो जो आंशिक वित्त पोषण कर सके तथा राष्टÑीय स्तर या अन्य राज्यों में समान काम कर चुकी अनुभवी संस्थाओं को मौका दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *